--Advertisement--

बिना अनुमति सड़क तोड़ी तो दर्ज होगी एफआईआर

सड़क निर्माण एवं अन्य कार्याे के लिए नगर परिषद अथवा संबंधित ग्राम पंचायत की अनुमति के बिना सड़क तोड़ने वालाें के...

Danik Bhaskar | May 22, 2018, 04:00 AM IST
सड़क निर्माण एवं अन्य कार्याे के लिए नगर परिषद अथवा संबंधित ग्राम पंचायत की अनुमति के बिना सड़क तोड़ने वालाें के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सड़क कटिंग के कारण सरकारी विभागाें एवं कार्यकारी एजेंसी के मध्य आपसी समन्वयक के अभाव में ओएफसी केबल क्षतिग्रस्त होने के साथ आमजन को दिक्कताें का सामना करना पड़ता है। जिला कलेक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने सोमवार को जिला मुख्यालय पर आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान विभागीय अधिकारियाें को निर्देशित करते हुए यह बात कही। जिला कलेक्टर ने कहा कि अगर बिना अनुमति के सड़क कटिंग का प्रकरण सामने आया तो संबंधित एजेंसी के खिलाफ पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। इस दौरान जिला कलेक्टर ने आगामी समय में बारिश के मौसम के मद्देनजर सभी विभागीय अधिकारियाें को आवश्यक प्रबंधन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने डिस्कॉम के अधीक्षण अभियंता को ढीले बिजली तार दुरुस्त करने के लिए कहा, ताकि किसी प्रकार के हादसे को रोका जा सके। उन्होंने धोरीमन्ना में आगामी दस दिनों में विद्युत ट्रांसफार्मर लगाने के निर्देश दिए। जिला कलेक्टर ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता हेमंत चौधरी को प्रत्येक सप्ताह आवश्यक रूप से 21 हैंडपंपों की खुदाई करवाने के साथ टैंकराें के जरिए जलापूर्ति सुनिश्चित करवाने के लिए कहा। उन्होंने चिकित्सालयाें में दवाइयाें की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ आमजन को काढ़ा पिलाने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच, अधीक्षण अभियंता जेआर जीनगर , एमएल जाट, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी बीएल मंसूरिया, अधिशाषी अभियंता सूराराम चौधरी, डीपीएम सचिन भार्गव, कनिष्ठ अभियंता सुनील बिश्नोई समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

जिला कलेक्टर ने की बिजली, पानी संबंधित व्यवस्थाआें की साप्ताहिक समीक्षा

बाड़मेर. बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देश देते कलेक्टर।