Hindi News »Rajasthan »Didwana» हिन्दी पुस्तकालय का शताब्दी वर्ष कार्यक्रम फरवरी में

हिन्दी पुस्तकालय का शताब्दी वर्ष कार्यक्रम फरवरी में

शहर के प्राचीन श्री डीडवाना हिन्दी पुस्तकालय का बुधवार को एडीएम ने निरीक्षण कर पुस्तकालय की व्यवस्थाओं संबंधित...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 25, 2018, 03:45 AM IST

शहर के प्राचीन श्री डीडवाना हिन्दी पुस्तकालय का बुधवार को एडीएम ने निरीक्षण कर पुस्तकालय की व्यवस्थाओं संबंधित जानकारी ली। साथ ही शीघ्र ही इस पुस्तकालय को सुसज्जित बनाने के लिए प्लान बनाकर कार्य को गति देने के निर्देश पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को दिए। एडीएम बलवंत सिंह, एसडीएम उत्तम सिंह शेखावत, पीडब्ल्यूडी एक्सईएन जेपी यादव, एईएन राजेंद्र कुमार के साथ पुस्तकालय पहुंचे। एडीएम ने पुस्तकालय के सभी मुख्य हॉल व कक्षों का निरीक्षण किया। जहां भवन क्षतिग्रस्त है, वहां मरम्मत कराई जाएगी एवं मूलस्वरूप को यथावत रखने के साथ ही भवन के रंग-रोगन करवाने आदि कार्य में सरकार द्वारा जो भी सहयोग किया जाएगा व आमजन से भी सहयोग लेकर इस कार्य को जल्द पूरा कराने की बात कही। एडीएम ने कहा कि हाल ही में कलेक्टर द्वारा निरीक्षण किया गया था। उनके निर्देशानुसार ही पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को भवन दिखाया गया है। जेपी यादव ने कहा कि इस भवन का एक नक्शा बनाया जाएगा। एडीएम, एसडीएम ने पुस्तकालय के प्राचीनतम ग्रंथों का भी अवलोकन किया। साहित्यकार गजेंद्र गांधी ने हस्तलिखित ग्रंथों के बारे में अधिकारियों को अवगत करवाया। डीडवाना हिन्दी पुस्तकालय चल-अचल संपति ट्रस्ट के मंत्री योगेश शर्मा ने बताया कि गत सप्ताह ट्रस्ट के अध्यक्ष हरिशंकर भाभड़ा से जयपुर में वार्ता हुई। जिसमें अध्यक्ष के निर्देशानुसार आगामी दिनों में संभवतया फरवरी माह के अंतिम सप्ताह में इस पुस्तकालय का शताब्दी वर्ष मनाया जाएगा। जिसमें तीन दिन तक कवि सम्मेलन, साहित्य सम्मेलन व अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। निरीक्षण के दौरान ट्रस्टी रामावतार सर्राफ ने व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।

दौरा

एडीएम, एसडीएम ने किया हिन्दी पुस्तकालय का निरीक्षण, प्राचीन ग्रंथों का भी किया अवलोकन

डीडवाना. डीडवाना हिन्दी पुस्तकालय का निरीक्षण करते एडीएम, एसडीएम व अन्य अधिकारी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×