Hindi News »Rajasthan »Didwana» एक साल पहले बनी सड़क के ठेकेदार को 4.90 लाख रुपए दिए, पांच महीने में टूटी, अब उसी सड़क का 10 लाख का टेंडर

एक साल पहले बनी सड़क के ठेकेदार को 4.90 लाख रुपए दिए, पांच महीने में टूटी, अब उसी सड़क का 10 लाख का टेंडर

डीडवाना नगर पालिका की बजट बैठक शुक्रवार को हुई। इसमें 39 करोड़ 73 लाख का बजट पारित किया गया। शुरुआत से ही बैठक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 04:00 AM IST

एक साल पहले बनी सड़क के ठेकेदार को 4.90 लाख रुपए दिए, पांच महीने में टूटी, अब उसी सड़क का 10 लाख का टेंडर
डीडवाना नगर पालिका की बजट बैठक शुक्रवार को हुई। इसमें 39 करोड़ 73 लाख का बजट पारित किया गया। शुरुआत से ही बैठक हंगामेदार रहीं। नेता प्रतिपक्ष ने सीसी सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए और ठेकेदार से मिलीभगत कर उसे फायदा पहुंचाने की बात कही। नेता प्रतिपक्ष उम्मेद खां पठान ने वार्ड 20 में बनाई सीसी रोड में ठेकेदार से मिलीभगत कर अनावश्यक लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया।

पठान ने कहा कि सीसी रोड बनाने के लिए 5 सितंबर 2016 को 4.90 लाख रुपए का टेंडर जारी किया गया। इसके लिए मार्च 2017 में वर्क ऑर्डर जारी किए गए। इसके एक महीना बाद अप्रैल में सड़क निर्माण का काम पूरा करवा दिया। मई 2017 में ठेकेदार को भुगतान भी कर दिया गया। ठेकेदार ने निर्माण कार्य में लापरवाही बरती, जो पांच महीने में ही खुलकर सामने आ गई। रोड के खराब होने के कारण पालिका ने फिर से इसी रोड के लिए 10 लाख से अधिक का टेंडर उसी ठेकेदार को दिया है। उन्होंने बैठक में इसका विरोध भी किया। नेता प्रतिपक्ष के आरोपों पर डीडवाना नगर पालिका के ईओ डॉ. सहदेव चारण का कहना है कि पहले टेंडर में सड़क का काम पूरा नहीं हो पाया। अब बाकी बचे हुए काम के लिए दुबारा निविदा जारी की गई है। बैठक में दो चार सदस्यों के अलावा सभी सदस्य मौन रहे। इस दौरान मनोनीत पार्षद गोपीकिशन प्रजापत, प्रतिपक्ष के गजेंद्र गांधी मौजूद थे।

विपक्ष: साल में 6 बैठक का नियम नहीं तो इस्तीफा दें, सत्ता पक्ष: ऐसा कोई प्रावधान नहीं

प्रतिपक्ष के वरिष्ठ पार्षद रघुनाथदास मोट ने पालिका में संविदा पर कार्यरत तकनीकी कर्मचारी मुन्ना लाल ओझा के वेतन का मुद्दा उठाया। वे बोले- ओझा लंबे समय से केवल 1800 रुपए वेतन पर काम कर रहा है। जिसका वेतन 10 हजार होना चाहिए। नेता प्रतिपक्ष पठान ने पालिका की साल में होने वाली 6 बैठक नहीं बुलाने पर नाराजगी जताई। जिस पर सत्ता पक्ष के पवन टाक ने कहा कि ऐसा कोई नियम नहीं है। इस पर पठान ने कहा कि अगर ऐसा नियम नहीं है तो मैं पद से इस्तीफा दे दूंगा या आप इस्तीफा दें। इस दौरान सत्तापक्ष के सद्दीक खान ने समझाइश कर टाक को बैठाया। उपाध्यक्ष बाबूखां बेगाना ने कहा कि गत बैठक में क्षेत्र के विधायक व मंत्री युनूस खान के आने की सूचना थी। मगर किसी कारणवश वे नहीं आ पाए और बैठक नहीं हो पाई। इसी प्रकार नेहरू पार्क के विकास के लिए 1 करोड़ 35 लाख की लागत से होने वाले कार्य की रिपोर्ट एवं नवीन प्लान का नक्शा दर्शाते हुए ईओ ने कहा कि इस पार्क को सुधारा जाएगा। इसके अलावा स्वच्छ जल मिशन योजना के तहत चीला तालाब, सिंगी सरोवर के विकास की डीपीआर तैयार होने की जानकारी भी ईओ द्वारा सदन की दी गई।

डीडवाना. नगरपालिका की साधारण सभा की बैठक में उलझते पक्ष-विपक्ष के पार्षद।

ईओ ने बताया: बजट खर्च के लिए पालिका इस तरह जुटाएगी राजस्व

पालिका अध्यक्ष ग्यारसी देवी के निर्देश पर ईओ चारण ने बजट पेश करते हुए बताया कि 28 अगस्त 2017 को हुई बैठक की कार्यवाही की पुष्टि जरूरी है। इस पर सभी ने सहमति जताई। डॉ. चारण ने आय का ब्यौरा देते हुए कहा कि पालिका कर राजस्व के लिए 10 करोड़ की आय दर्शित कर रही है। राजस्व एवं क्षतिपूर्ति के लिए 4 करोड़ 67 लाख, निकाय संपत्तियो के किराए के लिए 14 लाख, शुल्क एवं उपभोक्ता प्रभार के लिए 20 लाख, विक्रय एवं भाड़ा प्रभार के लिए 14 लाख, राजस्व अनुदान के लिए 22 लाख, अर्जित ब्याज 50 लाख, अन्य आय 20 लाख, प्राप्त निक्षेप 36 लाख 61 हजार की आय अर्जित होगी। वहीं, व्यय के रूप में स्थापना व्यय के लिए 74 लाख, प्रशासनिक व्यय के लिए 26 लाख, परिचालन एवं संधारण के लिए 22 लाख 90 हजार, निर्वाचन व्यय के लिए 6 लाख, राजस्व अनुदान, अंशदान एवं सहायता के लिए 16 लाख, स्थाई संपत्तियों के लिए 7 करोड़ 95 लाख, ऋण अग्रिम एवं निक्षेप के लिए 1 करोड़ व्यय अर्जित किया गया है। इस प्रकार 39 करोड़ 73 लाख का बजट पारित किया गया।

बयानों में ही विरोधाभास

अधिशासी अधिकारी बोले- हां, जारी हुए हैं टेंडर

पालिका की बजट बैठक में जब नेता प्रतिपक्ष उम्मेद खां पठान ने सवाल उठाया कि बैठक के एजेंडे में शामिल कार्य नंबर 27 के लिए पूर्व में ही 4 लाख 90 हजार के टेंडर जारी किए जा चुके हैं। उसमें से आधा काम होने पर भी ठेकेदार को भुगतान कर दिया गया। तो अब उस काम के लिए फिर से टेंडर कैसे जारी किए गए हैं। इस मामले को लेकर पालिका के अधिशासी अधिकारी डॉ. सहदेव चारण ने पहले कहा कि काम पूरा नहीं हुआ था। अब बचे हुए काम को पूरा करने के लिए टेंडर जारी किया गया है। ज्यादा जानकारी मांगने पर उन्होंने जेईएन से बात करने को कहा।

अभी तक दुबारा टेंडर नहीं हुआ- कनिष्ठ अभियंता

पालिका के कनिष्ठ अभियंता विकास मीणा से इस संबंध में बात की तो उन्होंने कहा कि किसी परिजन की मौत के कारण सीसी सड़क बनाने वाले ठेकेदार ने काम रोक दिया था। ठेकेदार को उतना ही भुगतान किया गया था जितना काम हो पाया है। जबकि नेता प्रतिपक्ष का आरोप है कि पालिका ने ठेकेदार को पूरा भुगतान कर दिया था। सवाल यह है कि इसी काम के लिए 10 लाख का टेंडर कैसे किया। जेईएन ने यह कहकर बात काट दी की अभी इस काम के दुबारा टेंडर नहीं किए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×