Hindi News »Rajasthan »Didwana» जीवण राम गोदारा हत्याकांड:12 साल बाद चार आरोपियों को न्यायालय ने माना दोषी, 5 मार्च को सुनाई जाएगी सजा

जीवण राम गोदारा हत्याकांड:12 साल बाद चार आरोपियों को न्यायालय ने माना दोषी, 5 मार्च को सुनाई जाएगी सजा

बहुचर्चित जीवण राम गोदारा, हरफूल जाट दोहरे हत्याकांड प्रकरण में डीडवाना एडीजे न्यायालय ने बुधवार को फैसला...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 04:25 AM IST

बहुचर्चित जीवण राम गोदारा, हरफूल जाट दोहरे हत्याकांड प्रकरण में डीडवाना एडीजे न्यायालय ने बुधवार को फैसला सुनाया। जिसमें संजय पांडे, दातार सिंह, श्रीवल्लभ और पप्पू उर्फ पप्या को दोषी माना गया। अब उन्हें 5 मार्च को सजा सुनाई जाएगी। एडीजे न्यायालय में जीवण गोदारा हत्याकांड प्रकरण का फैसला बुधवार को होना था। सुबह 10 से लेकर शाम 4:30 बजे तक आम लोगों को भी फैसले का इंतजार था। न्यायाधीश प्रदीप मोदी की अदालत ने 4:30 बजे आरोपियों के समक्ष फैसला सुनाया। संजय पांडे, श्रीवल्लभ, दातार सिंह और पप्पू उर्फ पप्या को दोषी माना है। अन्य अभियुक्तों को न्यायालय ने बरी कर दिया है। सरकारी अधिवक्ता रामेश्वरलाल भाकर ने बताया है कि 5 मार्च को माननीय न्यायालय द्वारा क्या सजा सुनाई जाती है। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। जिनकी जमानतें हुई हैं इस विषय में भी परिवादियों के परिजनों की राय लेकर कार्रवाई होगी। आरोपी पक्ष के अधिवक्ता, मोहम्मद अली शेरानी ने कहा कि हम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं। 5 मार्च को जो निर्णय होगा उसके बाद ही आगे अपील की जाएगी।

सरकारी वकील बदला था प्रकरण में

पीड़ित पक्ष की ओर से एडवोकेट रामेश्वरलाल भाकर ने पैरवी की। जो पूर्व में सरकारी वकील यानी पीपी के पद पर भी कार्यरत थे। सरकार बदलते ही भाकर को पीपी पद से हटा दिया था। उच्चतम न्यायालय ने भाकर को केवल इसी मामले के लिए 1 फरवरी 2015 को पीपी बनाया। जगमाल सिंह परिवादी की ओर से सहयोगी के रूप मे पैरवी कर रहे हैं। आरोपी पक्ष की ओर से राजीव विश्नोई , जयवीर सिंह, धीरेंद्र सिंह, मोहम्मद अली शेरानी पैरवी कर रहे हैं।

मामले में हैं 23 आरोपी

जीवणराम हत्याकांड मामले में घटनाक्रम के 23 आरोपी थे। जिसमें संजय पांडे बनाम सरकार के नाम मुकदमा डीडवाना में दर्ज हुआ। मुख्य आरोपी गैंगस्टर आनंदपाल था। उसकी मौत हो गई।

सहयोगियों में संजय पांडे, बलवीर बानूड़ा, दातार सिंह, परवेज, रणजीत सिंह, राजेंद्र सिंह, पप्पूराम, मेघसिंह, पहाड़ सिंह, केशर सिंह, नागरमल, गिरधारीलाल, जस्सुनाथ, ज्ञान सिंह, श्रीवल्लभ, आनंदपाल का भाई मनजीतसिंह, सुरेश सिंह, अनोप सिंह, भंवर सिंह मकोड़ी, कालूराम, शाहिद, अनिल नायर आरोपी थे।

एडीजे कोर्ट ने संजय पांडे, श्रीवल्लभ, दातार सिंह और पप्पू को माना दोषी, अन्य आरोपियों को किया बरी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×