Hindi News »Rajasthan »Didwana» शूटर दादी बाेलीं- 65 की उम्र में शुरू की निशानेबाजी, अब अंतरराष्ट्रीय पहचान, क्योंकि सीखने की कोई उम्र नहीं होती

शूटर दादी बाेलीं- 65 की उम्र में शुरू की निशानेबाजी, अब अंतरराष्ट्रीय पहचान, क्योंकि सीखने की कोई उम्र नहीं होती

शूटर दादी के नाम से विख्यात निशानेबाजी चंद्रो तोमर शुक्रवार को डीडवाना आईं। उन्होंने विद्यार्थियों को मेहनत और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 13, 2018, 04:45 AM IST

शूटर दादी के नाम से विख्यात निशानेबाजी चंद्रो तोमर शुक्रवार को डीडवाना आईं। उन्होंने विद्यार्थियों को मेहनत और लगन से लक्ष्य का पीछा करने की सीख दी। उन्होंने कहा कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती है। सच्ची लगन से उम्र के हर पड़ाव में कुछ नया सीख सकते हैं। उन्होंने बालिकाओं को शिक्षा के साथ खेल में भविष्य सुनिश्चित करने की बात कही। वे बोली- मैंने 65 साल की उम्र में निशानेबाजी शुरू की थी। आज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली है। इसलिए जीवन के हर पड़ाव में हमें कुछ नया करने की ललक होनी चाहिए।

एवरेस्ट विजेता आशा झाझड़िया ने कहा कि लगन होगी तो हम जरूर सफलता हासिल करेंगे। मेहनत करने वालों की हार नहीं होती है। अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी नरवाल ने कहा कि देश में कबड्डी लोकप्रिय हो रहा है। गांव-ढाणी से प्रतिभाएं सामने आ रही है। मारवाड़ प्रो-कबड्डी ने खिलाड़ियों को एक मंच दिया है। शहर की पूजा इंटरनेशनल एकेडमी में शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय कबड्डी प्लेयर प्रदीप नरवाल, शूटर दादी चंद्रो तोमर और एवरेस्ट विजेता आशा झाझड़िया का अभिनंदन किया गया। निदेशक बजरंग सिंह राठौड़, अध्यक्ष मनोहर सिंह राठौड़, संचालक रणजीत सिंह राठौड़, प्रिंसिपल आशुतोष सिन्हा व उप प्राचार्या अंजू कंवर ने स्वागत किया।

खेल समाचार

एवरेस्ट विजेता आशा झाझड़िया, अंतरराष्ट्रीय कबड्‌डी खिलाड़़ी प्रदीप नरवाल व शूटर चंद्रो तोमर का अभिनंदन

शूटर चंद्रो तोमर व एवरेस्ट विजेता आशा झाझड़िया का स्वागत किया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×