Hindi News »Rajasthan »Didwana» स्नातक प्रथम वर्ष : दस्तावेज सत्यापन कल तक, इंटरनेट की अंक तालिका भी करा सकते हंै जमा

स्नातक प्रथम वर्ष : दस्तावेज सत्यापन कल तक, इंटरनेट की अंक तालिका भी करा सकते हंै जमा

राजकीय बांगड़ कॉलेज में सत्र 2018-19 के लिए स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए कला, विज्ञान एवं वाणिज्य तीनों संकायों...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 03, 2018, 02:40 AM IST

राजकीय बांगड़ कॉलेज में सत्र 2018-19 के लिए स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए कला, विज्ञान एवं वाणिज्य तीनों संकायों की वरीयता व प्रतीक्षा सूचियां जारी कर दी गई हैं। कॉलेज प्राचार्य डॉ. एनआर ढाका ने बताया कि मुख्य वरीयता सूची एवं प्रतीक्षा सूची दोनों में जिन विद्यार्थियों के नाम आए हैं, उन्हें अपना प्रवेश आवेदन पत्र मय प्रमाण पत्रों के 4 जुलाई तक जमा करवा ई-मित्र पर शुल्क जमा कराना होगा। ई-मित्र पर शुल्क जमा कराने की अंतिम तिथि 5 जुलाई है। डॉ. ढाका ने बताया कि जिन प्रवेशार्थियों का नाम एक बार किसी सूची में आ गया, उन्हें उस सूची के लिए तय समयावधि में ही दस्तावेज व शुल्क जमा कराना होगा। अंतिम तिथि के बाद उन विद्यार्थियों को फिर से प्रवेश का कोई अवसर नहीं मिल पाएगा। प्रवेश प्रभारी डॉ. जहांगीर रहमान कुरैशी ने बताया कि प्रतीक्षा सूची में दस्तावेज सत्यापन के लिए बहुत कम विद्यार्थी आ रहे हैं। इसलिए उन्हें फिर से सूचित किया जाता है कि 4 जुलाई तक कॉलेज में दस्तावेज सत्यापन करवा 5 जुलाई तक अपना शुल्क ई-मित्र पर जमा करवाएं। उन्होंने बताया कि किसी कारणवश बोर्ड या विश्वविद्यालय द्वारा जारी मूल अंक तालिका प्राप्त नहीं होने की स्थिति में अभ्यर्थी इंटरनेट की अंकतालिका से आवेदन कर सकते है। मूल प्रमाण-पत्रों के भौतिक सत्यापन के समय मूल अंकतालिका प्राप्त नहीं होने की स्थिति में इंटरनेट की स्वयं द्वारा सत्यापित प्रति पेश कर अभ्यर्थी द्वारा इस आशय का शपथ पत्र सादे कागज पर पेश करना होगा कि वह 15 दिन में मूल प्रमाण पत्रों का सत्यापन करवा मूल टीसी व सीसी जमा कराएगा। पहले पेश अंकतालिका एवं मूल अंकतालिका में विंसगति पाए जाने पर अभ्यर्थी के विरुद्ध कार्रवाई की जा सकेगी एवं उसका प्रवेश निरस्त माना जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×