Hindi News »Rajasthan »Didwana» जोशी ने राष्ट्रहित में बंगाल-बिहार में भी किया काम, उनके कार्य आदर्श: प्रांत प्रमुख

जोशी ने राष्ट्रहित में बंगाल-बिहार में भी किया काम, उनके कार्य आदर्श: प्रांत प्रमुख

आरएसएस बीकानेर विभाग के पूर्व संघ चालक श्रीगोपाल जोशी के निधन से संघ को ही नहीं बल्कि संपूर्ण प्रदेश को व...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 08, 2018, 02:55 AM IST

जोशी ने राष्ट्रहित में बंगाल-बिहार में भी किया काम, उनके कार्य आदर्श: प्रांत प्रमुख
आरएसएस बीकानेर विभाग के पूर्व संघ चालक श्रीगोपाल जोशी के निधन से संघ को ही नहीं बल्कि संपूर्ण प्रदेश को व राष्ट्रीय विचारधारा रखने वाले प्रत्येक मनुष्य को अपूरणीय क्षति हुई हैं। 89 वर्षीय श्रीगोपाल जोशी हालांकि लंबे समय से अस्वस्थ थे। मगर मानव सेवा से संबंधित किए गए उनके नेक कार्य मानव जाति के लिए एक वरदान हैं। जिन्होंने अपने परिवार व संघ को साथ-साथ चलाकर सेवाएं देकर संघ की मजबूती के लिए लंबे समय तक कार्य करते हुए अपना संपूर्ण जीवन मानव कल्याण के लिए लगाया। आज वो तो हमारे बीच नहीं है, उनके कार्य सदैव याद रखे जाएंगे। यह बात आरएसएस राजस्थान प्रांत के प्रमुख निंबाराम ने मंगलवार को श्रीगोपाल जोशी की अंतिम यात्रा के दौरान पुष्पगुच्छ अर्पण करते हुए कही। राजस्थान प्रांत प्रमुख निंबाराम ने कहा कि जोशी को भाईजी के नाम से जाना जाता था। संघ की प्रथम शाखा राजस्थान के डीडवाना में लगी थी और स्व. पं. बच्छराज व्यास ने इसका शुभारंभ किया था, उस दौरान स्वयं सेवकों के रूप में स्व. जोशी जैसे लोग शामिल हुए थे। जिन्होंने निरंतर कार्य क्षेत्र में कार्य करते हुए संघ की योजनाओं को अनेक स्थानों पर लागू करते हुए बंगाल, बिहार आदि क्षेत्रों में कार्य किया। स्व. जोशी का निधन सोमवार को हो गया था। जिनकी अंतिम यात्रा उनके पैतृक निवास कोट मोहल्ले से नगर के प्रमुख स्थानों से निकलती हुई बच्छराज व्यास आदर्श विद्या मंदिर पहुंची। जहां स्कूल परिवार की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि दी गई एवं जोशी अमर रहे, वंदे मातरम का घोष किया गया। अंतिम यात्रा सूपका रोड पर स्थित महल की मोरी श्मशान घाट पहुंची। इससे पूर्व उनके निवास पर उनके साले व पूर्व मंत्री राजेंद्र पारीक ने सामाजिक रस्में निभाते हुए सर्व प्रथम माला व शॉल ओढ़ाकर रस्म को पूरा किया। उसके बाद लाडनूं विधायक मनोहर सिंह, पूर्व विधायक हरीश कुमावत व संघ प्रमुख निंबाराम ने श्रद्धांजलि दी। श्मशान घाट पर उनके ज्येष्ठ पुत्र प्रकाश जोशी ने मुखाग्नि दी। जोशी अपने 4 पुत्र प्रकाश, निर्मल, विजय कुमार, बसंत कुमार व मंजू सहित भरा पूरा परिवार छोड़कर गए है। इस दौरान श्मशान घाट में पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान भी पहुंचे। मंत्री खान ने कहा कि भाईजी जोशी के निधन से संघ ही नहीं बल्कि डीडवाना क्षेत्र को क्षति हुई हैं। जोशी की अंतिम यात्रा में जिला संघ चालक नारायण प्रसाद टाक, नगर संघ चालक ओमप्रकाश मोट, संघ के जिला पदाधिकारी रूपनारायण, बनवारी मोट, मदन लाल सैनी, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश मोदी, पालिका कार्यवाहक अध्यक्ष बाबू खां बेगाना, गाढ़ाधाम समिति के महेश टाक, ब्राह्मण महासभा के उपाध्यक्ष राजेंद्र पारीक, भाजपा अध्यक्ष सुभाष गौड़, महामंत्री शिवशंकर पारीक, शिक्षक संघ राष्ट्रीय के महामंत्री कैलाश सोलंकी, पूर्व पालिकाध्यक्ष सुरेश वर्मा, गजेंद्र सिंह ओडिंट, पार्षद केडी कुरैशी, पवन टाक, नासिर मोर्डन, लालचंद ध्यावाला, डॉ. सीपी गौड़ उपस्थित थे।

बीकानेर विभाग पूर्व संघ चालक को श्रद्धांजलि देते प्रांत प्रमुख निम्बाराम।

भास्कर संवाददाता | डीडवाना

आरएसएस बीकानेर विभाग के पूर्व संघ चालक श्रीगोपाल जोशी के निधन से संघ को ही नहीं बल्कि संपूर्ण प्रदेश को व राष्ट्रीय विचारधारा रखने वाले प्रत्येक मनुष्य को अपूरणीय क्षति हुई हैं। 89 वर्षीय श्रीगोपाल जोशी हालांकि लंबे समय से अस्वस्थ थे। मगर मानव सेवा से संबंधित किए गए उनके नेक कार्य मानव जाति के लिए एक वरदान हैं। जिन्होंने अपने परिवार व संघ को साथ-साथ चलाकर सेवाएं देकर संघ की मजबूती के लिए लंबे समय तक कार्य करते हुए अपना संपूर्ण जीवन मानव कल्याण के लिए लगाया। आज वो तो हमारे बीच नहीं है, उनके कार्य सदैव याद रखे जाएंगे। यह बात आरएसएस राजस्थान प्रांत के प्रमुख निंबाराम ने मंगलवार को श्रीगोपाल जोशी की अंतिम यात्रा के दौरान पुष्पगुच्छ अर्पण करते हुए कही। राजस्थान प्रांत प्रमुख निंबाराम ने कहा कि जोशी को भाईजी के नाम से जाना जाता था। संघ की प्रथम शाखा राजस्थान के डीडवाना में लगी थी और स्व. पं. बच्छराज व्यास ने इसका शुभारंभ किया था, उस दौरान स्वयं सेवकों के रूप में स्व. जोशी जैसे लोग शामिल हुए थे। जिन्होंने निरंतर कार्य क्षेत्र में कार्य करते हुए संघ की योजनाओं को अनेक स्थानों पर लागू करते हुए बंगाल, बिहार आदि क्षेत्रों में कार्य किया। स्व. जोशी का निधन सोमवार को हो गया था। जिनकी अंतिम यात्रा उनके पैतृक निवास कोट मोहल्ले से नगर के प्रमुख स्थानों से निकलती हुई बच्छराज व्यास आदर्श विद्या मंदिर पहुंची। जहां स्कूल परिवार की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि दी गई एवं जोशी अमर रहे, वंदे मातरम का घोष किया गया। अंतिम यात्रा सूपका रोड पर स्थित महल की मोरी श्मशान घाट पहुंची। इससे पूर्व उनके निवास पर उनके साले व पूर्व मंत्री राजेंद्र पारीक ने सामाजिक रस्में निभाते हुए सर्व प्रथम माला व शॉल ओढ़ाकर रस्म को पूरा किया। उसके बाद लाडनूं विधायक मनोहर सिंह, पूर्व विधायक हरीश कुमावत व संघ प्रमुख निंबाराम ने श्रद्धांजलि दी। श्मशान घाट पर उनके ज्येष्ठ पुत्र प्रकाश जोशी ने मुखाग्नि दी। जोशी अपने 4 पुत्र प्रकाश, निर्मल, विजय कुमार, बसंत कुमार व मंजू सहित भरा पूरा परिवार छोड़कर गए है। इस दौरान श्मशान घाट में पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान भी पहुंचे। मंत्री खान ने कहा कि भाईजी जोशी के निधन से संघ ही नहीं बल्कि डीडवाना क्षेत्र को क्षति हुई हैं। जोशी की अंतिम यात्रा में जिला संघ चालक नारायण प्रसाद टाक, नगर संघ चालक ओमप्रकाश मोट, संघ के जिला पदाधिकारी रूपनारायण, बनवारी मोट, मदन लाल सैनी, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश मोदी, पालिका कार्यवाहक अध्यक्ष बाबू खां बेगाना, गाढ़ाधाम समिति के महेश टाक, ब्राह्मण महासभा के उपाध्यक्ष राजेंद्र पारीक, भाजपा अध्यक्ष सुभाष गौड़, महामंत्री शिवशंकर पारीक, शिक्षक संघ राष्ट्रीय के महामंत्री कैलाश सोलंकी, पूर्व पालिकाध्यक्ष सुरेश वर्मा, गजेंद्र सिंह ओडिंट, पार्षद केडी कुरैशी, पवन टाक, नासिर मोर्डन, लालचंद ध्यावाला, डॉ. सीपी गौड़ उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×