--Advertisement--

चोरी करने के लिए 3 चोरों ने पिकअप चुराई, पकड़े गए

बिजली के तार चुराने की योजना के लिए पहले पिकअप चुराई। लेकिन योजना सफल होने से पहले पिकअप सड़क दुर्घटना में...

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 03:30 AM IST
बिजली के तार चुराने की योजना के लिए पहले पिकअप चुराई। लेकिन योजना सफल होने से पहले पिकअप सड़क दुर्घटना में क्षतिग्रस्त हो गई। लेकिन तारों की चोरी के लिए दूसरी पिकअप और चुराई तो वहां पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

ये खुलासा मौलासर थाना क्षेत्र के झाड़ोद रोड पर 1 नवंबर 2017 को चोरी हुई पिकअप चोरी के आरोप में नीमका थाना के तीन आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में कबूले है। थानाधिकारी राजेंद्रसिंह ने बताया कि डीडवाना सब जेल से गिरफ्तार नीमका थाना क्षेत्र के गांव टीबा तन गावड़ी निवासी अशोक पुत्र हनुमानराम, चंद्र पाल पुत्र सुरेश कुमार व सुनील पुत्र मंगलचंद सैनी को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया। जिन्हें डीडवाना न्यायालय में पेश किए जाने पर पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया था। जिनसे पूछताछ में आरोपियों ने राज खोलने शुरू किए है। थानाधिकारी ने बताया कि इस मामले की जांच हैड कांस्टेबल गजेंद्र सिंह को दी गई है। जिस पर तीनों की रिमांड अवधि में पिकअप चुराने की बात कबूल की।

गाड़ी पर कलर करवाया, नंबर प्लेट तक बदल दी

हैड कांस्टेबल गजेंद्र सिंह ने बताया कि तीनों आरोपियों ने कबूला है वे झाड़ोद रोड से पिकअप चुराकर गांव गए और वहां पिकअप की पहचान छुपाने के लिए उन्होंने कलर करवाया तथा नंबर प्लेट बदल दी। उसके बाद पिकअप लेकर भीलवाड़ा क्षेत्र के गांवों में बिजली के तार चुराने निकले। मगर अजमेर के पास सायला फांटे के पास ट्रक से टकरा गए। हालांकि तीनों वहां से भागने में सफल हो गए। पूछताछ में बताया कि कुछ समय तक शांत रहकर बीकानेर जिले में तीनों ने बिजली के तार चुराने की योजना बनाई। इसके लिए डीडवाना तहसील के थाणूं गांव से पिकअप चुराई। जो गंगापुरसिटी में पुलिस ने जब्त कर ली और कागजात के अभाव में पकड़े गए। इस बाद पुलिस ने जांच की तो तीनों के खिलाफ सबूत मिल गए। इस पर इन्हें गांव से गिरफ्तार किया गया। मौलासर से चोरी की गई पिकअप बरोनी थाने से मौलासर पुलिस ने जब्त कर कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है और भी चोरियों की वारदात खुलने की आशंका जताई जा रही है।