• Home
  • Rajasthan News
  • Didwana News
  • मौलासर में नीम का पौधा लगा पड़ोसी को सौंपी देखभाल की जिम्मेदारी, डीडवाना में हुआ सेमिनार
--Advertisement--

मौलासर में नीम का पौधा लगा पड़ोसी को सौंपी देखभाल की जिम्मेदारी, डीडवाना में हुआ सेमिनार

मौलासर बीडीओ मनोहरलाल शर्मा की अगुवाई में धनकोली रोड पौधशाला में रविवार को विश्व पृथ्वी दिवस का आयोजन हुआ।...

Danik Bhaskar | Apr 23, 2018, 03:45 AM IST
मौलासर बीडीओ मनोहरलाल शर्मा की अगुवाई में धनकोली रोड पौधशाला में रविवार को विश्व पृथ्वी दिवस का आयोजन हुआ। पर्यावरण संरक्षण का युवाओं को संकल्प दिलाया। क्षेत्रीय वन अधिकारी नानकराम बोले- हमारा पहला प्रयास पर्यावरण शुद्ध रखने के लिए पौधरोपण करना है। पर्यावरण प्रेमी शिवराम बलारा, अनिल कुमार, वनरक्षक झाबरमल ने पर्यावरण संरक्षण के लिए युवाओं को पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया।

धनकोली रोड पर नीम का पौधा लगाकर डालूराम स्वामी को पेड़ की निगरानी व पालन-पोषण का जिम्मा सौंपा। इस दौरान अब्दुल रहमान, डॉ. भीमराव अंबेडकर छात्रावास अध्यक्ष संजीव कुमार, बंटी सांखला, कमल सांखला, आशीष शर्मा, नवीन कुमार, उज्ज्वल शर्मा, कुलदीप, राजेंद्र, कैटल गार्ड पुरखाराम, नंदकिशोर, कुलदीप, सोनू सहित अनेक युवा उपस्थित रहे।

सांजू| विश्व पृथ्वी दिवस पर जागरूकता समिति अध्यक्ष जेठूसिंह सांजू ने कहा कि पेड़-पौधों की रक्षा करना आमजन का कर्तव्य है। सामाजिक कार्यकर्ता रामेश्वरलाल सेवदा, गुरुकुल स्कूल खींवताना के संस्था प्रधान महेंद्रकुमार जाखड़ ने भी विचार व्यक्त किए।

डीडवाना| पृथ्वी दिवस पर डीडवाना के बांगड़ कॉलेज में सेमिनार हुआ। भू-गर्भ विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अरुण व्यास ने कहा जीवन को बचाने के लिए हमें अपनी आदतों व आचरण में बदलाव करना होगा। उन्होंने बताया कि पृथ्वी दिवस मनाने की शुरुआत 1970 में अमेरिकन सीनेटर और पर्यावरणविद् गेलोर्ड नेल्सन ने की। वैश्विक स्तर पर पर्यावरण संरक्षण के लिए सार्थक समझौते व उनकी पालना आज समय की मांग है। स्थानीय स्तर तक सामूहिक सहयोग से संसाधनों के मितव्ययी उपयोग, पेड़ों के कटाई पर रोक, कार्बन उत्सर्जन में कटौती से भविष्य के खतरों से निपटने के लिए हमें आज से ही अपना योगदान शुरू करना होगा वरना आने वाली पीढ़ियां हमें माफ नहीं करेगी।

मौलासर. विश्व पृथ्वी दिवस कार्यक्रम में मंचस्थ अतिथि।