Hindi News »Rajasthan »Didwana» वर्ष 1948 और 1975 में जेलों में बंद रहे लोकतंत्र सेनानियों का डीडवाना में किया सम्मान

वर्ष 1948 और 1975 में जेलों में बंद रहे लोकतंत्र सेनानियों का डीडवाना में किया सम्मान

नगर के पं. बच्छराज आदर्श विद्या मंदिर में रविवार को लोकतंत्र सेनानियों का माला, साफा पहनाकर व श्रीफल भेंटकर स्वागत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 06, 2018, 03:55 AM IST

नगर के पं. बच्छराज आदर्श विद्या मंदिर में रविवार को लोकतंत्र सेनानियों का माला, साफा पहनाकर व श्रीफल भेंटकर स्वागत किया गया। संस्थान के रमेश गौड़ ने बताया कि 1948 व 1975 में मिसा के तहत जेल में बंद सेनानियों का स्वागत समारोह आयोजित किया गया। इस मौके पर संगठन के खेमराज कृष्ण गोयल ने कहा कि यह सम्मान समारोह व स्नेह मिलन मिलने-जुलने का एक माध्यम है। जिससे परिजनों को इस बात की जानकारी हो जाती है कि हमारे घर के सदस्यों ने तानाशाही शासन की यातनाएं झेली हैं। आपातकाल के दौरान संघ पर प्रतिबंध लगाने के दौरान जिस प्रकार क्रूरता से संघ के लोगों को जेलों में बंद कर दिया था। आज संपूर्ण देश में तानाशाही शासन का नामोनिशान मिटता जा रहा हैं। जयपुर के राजेंद्र राज ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को बोलने का अधिकार हैं। मगर आपातकाल के दौरान राष्ट्रभक्तों के साथ जो आचरण हुआ, वह किसी से छुपा हुआ नहीं हैं। इस दौरान सुरेश कुमार, शंकरलाल आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस दौरान लोकतंत्र सेनानियों का एक स्नेह मिलन भी हुआ। जिसमें एक-दूसरे से मिलकर पुरानी यादों को ताजा किया गया। इस दौरान कोलिया बगीची के संत खेमदास महाराज, जिला संघ चालक नारायण प्रसाद टाक, रामधन रेणीवाल, मोहन चौधरी, ओमप्रकाश, एडवोकेट सुरेश मंचासीन थे। कार्यक्रम में हनुमान टाक, विष्णुप्रकाश, जिला कार्यवाह रूपनारायण, नगर संघ चालक ओमप्रकाश, डॉ. सीपी गौड़, सुभाष ओझा, रामदेव जाजू, मदन आसेरी, गिरधारी तापड़िया, सवाई सिंह, विनोद अग्रवाल, छोटूलाल टाक, गोविंदलाल पोद्दार, श्रवण, बनवारी मोट, परमेश्वर नागौरी, सुरेश वर्मा आदि उपस्थित थे।

आयोजन

पं. बच्छराज आदर्श विद्या मंदिर में कार्यक्रम, लोकतंत्र सेनानियों को भेंट किए श्रीफल

भास्कर संवाददाता | डीडवाना

नगर के पं. बच्छराज आदर्श विद्या मंदिर में रविवार को लोकतंत्र सेनानियों का माला, साफा पहनाकर व श्रीफल भेंटकर स्वागत किया गया। संस्थान के रमेश गौड़ ने बताया कि 1948 व 1975 में मिसा के तहत जेल में बंद सेनानियों का स्वागत समारोह आयोजित किया गया। इस मौके पर संगठन के खेमराज कृष्ण गोयल ने कहा कि यह सम्मान समारोह व स्नेह मिलन मिलने-जुलने का एक माध्यम है। जिससे परिजनों को इस बात की जानकारी हो जाती है कि हमारे घर के सदस्यों ने तानाशाही शासन की यातनाएं झेली हैं। आपातकाल के दौरान संघ पर प्रतिबंध लगाने के दौरान जिस प्रकार क्रूरता से संघ के लोगों को जेलों में बंद कर दिया था। आज संपूर्ण देश में तानाशाही शासन का नामोनिशान मिटता जा रहा हैं। जयपुर के राजेंद्र राज ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को बोलने का अधिकार हैं। मगर आपातकाल के दौरान राष्ट्रभक्तों के साथ जो आचरण हुआ, वह किसी से छुपा हुआ नहीं हैं। इस दौरान सुरेश कुमार, शंकरलाल आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस दौरान लोकतंत्र सेनानियों का एक स्नेह मिलन भी हुआ। जिसमें एक-दूसरे से मिलकर पुरानी यादों को ताजा किया गया। इस दौरान कोलिया बगीची के संत खेमदास महाराज, जिला संघ चालक नारायण प्रसाद टाक, रामधन रेणीवाल, मोहन चौधरी, ओमप्रकाश, एडवोकेट सुरेश मंचासीन थे। कार्यक्रम में हनुमान टाक, विष्णुप्रकाश, जिला कार्यवाह रूपनारायण, नगर संघ चालक ओमप्रकाश, डॉ. सीपी गौड़, सुभाष ओझा, रामदेव जाजू, मदन आसेरी, गिरधारी तापड़िया, सवाई सिंह, विनोद अग्रवाल, छोटूलाल टाक, गोविंदलाल पोद्दार, श्रवण, बनवारी मोट, परमेश्वर नागौरी, सुरेश वर्मा आदि उपस्थित थे।

गांवों का दौरा कर युवाओं को जोड़ा

नागौर | कांग्रेस के शक्ति प्रोजेक्ट से कांग्रेस विचारधारा के लोगों को जोड़ने के लिए कांग्रेस नेता शमशेर खोखर गांवों का दौरा कर रहे है। खोखर ने शनिवार को गुर्जर खेड़ा, अतुसर, सुंडिसर, ताऊसर में वयोवृद्ध नेता सीताराम मेघवाल के नेतृत्व में शक्ति प्रोजेक्ट से युवाओं को जोड़ा। जिसका युवाओं ने मोबाइल मैसेज के जरिए कांग्रेस विचारधारा का समर्थन किया। इस मौकेपर शमशेर खोखर ने साथ रणवीर पहलवान, इब्राहिम धोनी, डायरेक्टर टीकमचंद मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×