--Advertisement--

रमजान देता है सब्र और परहेज का संदेश

डीडवाना| मस्जिद सैयदान के पेश इमाम मौलाना वसीमुद्दीन ने कहा कि आमतौर पर हर इंसान साल के 11 महीने तक दुनियादारी में...

Dainik Bhaskar

May 23, 2018, 04:00 AM IST
रमजान देता है सब्र और परहेज का संदेश
डीडवाना| मस्जिद सैयदान के पेश इमाम मौलाना वसीमुद्दीन ने कहा कि आमतौर पर हर इंसान साल के 11 महीने तक दुनियादारी में उलझा रहता है। लेकिन रमजान का महीना लोगों को इंसानियत और अच्छे काम करने का पैगाम देता है। मंगलवार को रमजान की फजीलत बयान करते हुए मौलाना वसीमुद्दीन ने कहा कि रमज़ानुल मुबारक का यह पाक महीना दुनिया को इंसानियत और नेकी का पैगाम देता है। यह महीना अमन-चैन, भाईचारा और गरीबों की मदद का भी आह्वान करता है। रमजान में लोगों को गरीब, मुफलिस और दीन-दुखियों के दुख-दर्द और भूख-प्यास का अहसास होता है। इससे रोजेदारों में भले-बुरे को समझने की सहूलियत पैदा होती है। मौलाना ने कहा कि मौजूदा दौर में पूरी दुनिया में बुराई का बोलबाला है। हर तरफ झूठ, मक्कारी, हिंसा है। ऐसे में रमजान का पैगाम और भी अहम हो गया है। रमजान ही ऐसा महीना है जो पूरी दुनिया को सब्र और परहेजगारी का पैगाम देता है और उन्हें बुरे कामों से रोकता है।

X
रमजान देता है सब्र और परहेज का संदेश
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..