Hindi News »Rajasthan »Didwana» सम्मेलन में वक्ता बोले- शिक्षक समाज का आइना होता है, महिला समाज की पहचान

सम्मेलन में वक्ता बोले- शिक्षक समाज का आइना होता है, महिला समाज की पहचान

राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय जिला महिला संगठन का शिक्षक सम्मेलन रविवार को गोपाला गौशाला के कामधेनु सभागार में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 14, 2018, 04:05 AM IST

राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय जिला महिला संगठन का शिक्षक सम्मेलन रविवार को गोपाला गौशाला के कामधेनु सभागार में प्रदेश महिला मंत्री अरुणा शर्मा के आतिथ्य में आयोजित हुआ। शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं को लेकर संगठन के तत्वावधान में समय-समय पर धरना प्रदर्शन व ज्ञापन देकर सरकार से मांग की जाती हैं मगर पिछले कुछ माह से देख रहे है कि पुरानी पेंशन योजना बहाल करने और विभिन्न मांगो को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है मगर सरकार की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी प्रकार संघ के अन्य पदाधिकारियों ने कहा कि शिक्षकों की मांगों को लेकर बार-बार अधिकारियो को बताने के बाद भी मांगों पर सुनवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने महिला सशक्तिकरण को मजबूत करने पर बल देते हुए कहा कि शिक्षक समाज का आईना है और महिला समाज की पहचान। उन्होंने कहा कि सरकार को 15 सूत्रीय मांग पत्र देकर शिक्षकों की समस्याओं के समाधान करने की मांग की जाएगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष महेन्द्र लखारा ने कहा कि हमारी लम्बित मांग पत्र जो प्रदेश संगठन द्वारा राज्य सरकार को भेजी गई है एवं इस संबंध में वार्ता भी हो रही है। डॉ. गजादान चारण ने कहा कि सरकारी विद्यालयों में शिक्षा के स्तर को सुधारने का कार्य शिक्षकों का है और सरकार की वर्तमान शिक्षा नीति के तहत हम देख रहे है कि सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर दिन प्रतिदिन सकारात्मक हो रहा है। इस मौके पर जिलाध्यक्ष राजेन्द्र दाधीच, जिला महिला मंत्री दुर्गा शर्मा, जिला मंत्री कैलाश सोलंकी, मंजू पसारी, पुष्पा सोनी, संगीता भोजक, मंजू चौहान, रचना टाक, शंभूसिंह गौड़, शर्मिला गौड़, संतोष भाटी, सुमन शर्मा, चंदा लाटा, मनीषा राखेचा, रेणु शर्मा, तुहीना प्रकाश, कौशल्या बुरड़क, सुमित्रा सोनी, पुष्पा सोनी, सुनीता सोनी, उषा देवी, इंदु शर्मा, शहनाज, आरती पटेल, आरती मिश्रा, आशा कंवर, माया राठौड़, मनीषा राखेचा, स्वाति, बसंत चौधरी आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Didwana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×