--Advertisement--

कथावाचक संत अशोक बोले- अन्याय सहन करना भी पाप है

शहर के तुलसी वाटिका में चल रही श्रीमद भागवत कथा के दूसरे दिन संत पं. अशोक व्यास ने बताया कि श्रीमद भागवत कथा पुराण...

Danik Bhaskar | May 23, 2018, 04:05 AM IST
शहर के तुलसी वाटिका में चल रही श्रीमद भागवत कथा के दूसरे दिन संत पं. अशोक व्यास ने बताया कि श्रीमद भागवत कथा पुराण वह ग्रंथ है जिसमें भगवान श्रीमन्ननारायण के अवतारों की कथाएं एवं लीलाओं के प्रसंग सारांश रूप में व मनुष्य जीवन किस प्रकार जीते है व सांसारिक जीवन में हमें किस प्रकार जीवनपार्जन करना चाहिए आदि के बारे में बताया गया हैं। उन्होंने कहा कि अगर किसी व्यक्ति पर कोई दुराचारी अन्याय करता है तो वो गलत है परन्तु उसे सहन करना भी पाप है। अन्याय के विरुद्ध लड़ना मानव धर्म है और यही भाव भगवान श्रीकृष्ण ने गीता के उपदेश में अपने प्रिय धनुरधारी अर्जुन को सुनाए। महाराज ने बताया कि अगर क्षणिक भर भी मनुष्य भगवान का चिंतन व मनन करे तो उनके पाप कम हो सकते है और मन को शांति मिल सकती है। इस मौके पर शहरवासी मौजूद थे।