--Advertisement--

सैन समाज के कार्यक्रम में पुस्तक का विमोचन

शहर के सैन मंदिर भवन में रविवार को शिक्षाविद् रामधन रेनीवाल द्वारा प्रकाशित आत्मकथा स्वरूप साधक ही जीवनधारा...

Danik Bhaskar | Apr 30, 2018, 04:35 AM IST
शहर के सैन मंदिर भवन में रविवार को शिक्षाविद् रामधन रेनीवाल द्वारा प्रकाशित आत्मकथा स्वरूप साधक ही जीवनधारा पुस्तक का विमोचन सानिवि मंत्री यूनुस खान के सानिध्य में किया गया। इस अवसर पर मंत्री खान ने अपने सम्बोधन में कहा कि साहित्य समाज की धरोहर है। आज साहित्य व संस्कृति के कारण ही परिवार व समाज सुरक्षित है एवं परिवार में बच्चों को नैतिक शिक्षा व संस्कारों का ज्ञान कराना जरुरी है। डॉ. गजादान चारण ने कहा कि साहित्य देश की अनमोल धरोहर है इसे सुरक्षित रखना सभी का दायित्व है। सैन समाज के प्रदेशाध्यक्ष अशोक ने नारायणी माता व सैन महाराज के जीवन से प्रेरणा लेकर प्रत्येक व्यक्ति को अपना जीवन मानव कल्याण में लगाने का आव्हान किया। इस मौके पर प्रांतीय महासचिव विनोद सैन, सचिव डॉ. एमएल वर्मा, विजय कुमार, रमेश कुमार, प्रकाश चन्द, बसंत कुमार, प्रवीण कुमार, मोहन लाल, बुद्धाराम गरवा, महेश टाक, रामनिवास, नथमल काबरा, घीसाराम खीची आदि मौजूद थे।

डीडवाना. सैन समाज के कार्यक्रम में पुस्तक का विमोचन करते मंत्री खान।