• Hindi News
  • Rajasthan
  • Didwana
  • चालकों ने शव अस्पताल पहुंचाने से मना किया तो स्टेशन मास्टर ने स्टेशन पर ऑटो खड़े नहीं करने दिए
--Advertisement--

चालकों ने शव अस्पताल पहुंचाने से मना किया तो स्टेशन मास्टर ने स्टेशन पर ऑटो खड़े नहीं करने दिए

ऑटो में सिर कटा शव ले जाने से मना करने पर रेलवे के स्टेशन मास्टर ने ऑटो चालकों को स्टेशन के पास गाड़ी खड़ी नहीं करने...

Dainik Bhaskar

Jun 26, 2018, 03:25 PM IST
चालकों ने शव अस्पताल पहुंचाने से मना किया तो स्टेशन मास्टर ने स्टेशन पर ऑटो खड़े नहीं करने दिए
ऑटो में सिर कटा शव ले जाने से मना करने पर रेलवे के स्टेशन मास्टर ने ऑटो चालकों को स्टेशन के पास गाड़ी खड़ी नहीं करने दी। इससे गुस्साए ऑटो चालकों ने रेलवे स्टेशन उतरने वाली सवारियों को ऑटो में बिठाने से मना कर दिया। मजबूरी में दूर-दराज से आने वाली सवारियों को डेढ़ से दो किमी का सफर गर्मी में पैदल तय करना पड़ा। रेलवे प्रशासन व ऑटो चालकों की लड़ाई का खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ा।

जानकारी अनुसार, रेलवे स्टेशन के पास रविवार को एक व्यक्ति ने ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली थी। उसका सिर धड़ से अलग हो गया था। जीआरपी ने रेलवे स्टेशन के बाहर खड़े ऑटो चालकों से शव को बांगड़ अस्पताल पहुंचाने को कहा। लेकिन ऑटो चालकों ने मना कर दिया। इससे गुस्साए स्टेशन मास्टर ने ऑटो चालकों को स्टेशन के आसपास गाड़ी खड़ी करने से हर मना कर दिया। ऑटो चालक हालांकि स्टेशन से कुछ दूर खड़े थे। लेकिन उन्होंने स्टेशन पर उतरी सवारियों को ऑटो में बिठाने से मना कर दिया। दोपहर 2 बजे तपती धूप में दो ट्रेनों से आए यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी।

हड़ताल से गर्मी में पैदल ही घर जाने की मजबूरी

डीडवाना. रेलवे स्टेशन से सामान लेकर तपती गर्मी में पैदल चलते यात्री।

यूनियन का आह्वान नहीं, ऑटो चालकों का फैसला

हालांकि ऑटो चालक यूनियन के अध्यक्ष आशाराम पंवार ने कहा कि स्टेशन मास्टर से इस संबंध में बातचीत जारी है। हड़ताल समाधान नहीं है। यूनियन ने हड़ताल का आह्वान नहीं किया है। दोपहर में जो ऑटो रेलवे स्टेशन पर खड़े रहते हैं, उन्होंने खुद की इच्छा से ही फैसला लिया है। उनको भी समझा दिया है कि यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखें। इस संबंध में रेलवे के उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाएगा।

स्टेशन परिसर में ऑटो खड़े नहीं कर सकते : जीआरपी

जीआरपी चौकी प्रभारी भागीरथ सिंह का कहना है कि शव ले जाने को लेकर ऑटो चालकों से कोई बात नहीं हुई है। स्टेशन परिसर में ऑटो खड़े करने पर उच्चाधिकारियों ने छह महीने पहले रोक लगाने के आदेश जारी किए थे। उन्होंने कहा कि हमने कई बार समझाइश की। लेकिन ऑटो चालक नहीं माने। अब उन्हें यहां ऑटो खड़े नहीं करने के लिए कहा गया है। ताकि स्टेशन आने वाले यात्रियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हो।

X
चालकों ने शव अस्पताल पहुंचाने से मना किया तो स्टेशन मास्टर ने स्टेशन पर ऑटो खड़े नहीं करने दिए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..