--Advertisement--

खनिज विभाग ने खोले रेत के तीन ब्लॉक

भू एवं खनिज विभाग ने रेत खनन के लिए 3 नए ब्लॉक खोल दिए हैं। ऐसे में अब दो अप्रैल को एनजीटी के फैसले के बाद टेंडर की...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:55 AM IST
भू एवं खनिज विभाग ने रेत खनन के लिए 3 नए ब्लॉक खोल दिए हैं। ऐसे में अब दो अप्रैल को एनजीटी के फैसले के बाद टेंडर की तारीख तय हो जाएगी और आमजन को बढ़ी हुई कीमतों से राहत मिलेगी।

पिछले डेढ़ साल से डूंगरपुर और सलूंबर खनिज जिलों में रेत के खनन पर पूरी तरह पाबंदी है। इस पाबंदी के कारण जिले में रेत माफिया ने दरों में इतनी बढ़ोतरी कर दी थी कि भाव आसमान तक पहुंच गए थे। सामान्य रूप से एक हजार रुपए प्रति ट्रैक्टर रेत की कीमत 1600 रुपए तक पहुंच गई थी। वहीं कई बार सीजन में तो यह भाव 2200 रुपए तक वसूले जा रहे थे। इस दौरान निर्माण कार्य तो बंद नहीं हुए लेकिन आम आदमी इन बढ़े हुए दामों को चुकाने को मजबूर है। इसका नुकसान निर्माण लागत बढ़ने के रूप में उन्हें भुगतना पड़ रहा है। जो दाम बढ़े उनका नुकसान यह हुआ कि अमूमन हर निर्माण डेढ़ से दोगुना तक महंगा हो गया। दो अप्रैल को एनजीटी या राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण में पेशी है।

इधर, खनिज विभाग ने सर्वे की प्रक्रिया पूरी करते हुए तीन नए ब्लॉक तैयार कर लिए हैं। इसकी कानूनी प्रक्रिया पूरी कर अब केवल टेंडर ही करने शेष है। उल्लेखनीय है कि इसमें टामटिया, वरदा और झोहरा पटली में तीन ब्लॉक बनाए गए है। झोहरा पटली में 13.75 हैक्टेयर और टामटिया सहित वरदा में दस-दस हैक्टेयर क्षेत्र में खनन पर विभाग ने सहमति दी है।