--Advertisement--

मारुति नंदन को आंगी, तेल का अभिषेक, 56 भोग लगाया

‘श्रीगुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधारी, बरनउं रघुबर विमल जसु, जो दायक फल चारि, बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:55 AM IST
‘श्रीगुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधारी, बरनउं रघुबर विमल जसु, जो दायक फल चारि, बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार, बल बुद्धि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार...’ जैसे कष्ट भंजन मारूति नंदन के गुणगान से मंदिर परिसर गूंजायन रहे और समूचा वातावरण आच्छादित रहा।

जिलेभर में हनुमान जन्मोत्सव शनिवार को बड़े भक्तिभाव के साथ मनाया गया। शनिवार को जन्मोत्सव होने के कारण दिनभर अनुष्ठान हुए। हनुमान मंदिरों में रात्रि जागरण के दौरान सत्संग मंडलियों द्वारा भजन-कीर्तन हुए। देर रात तक हनुमान भक्त थिरकते रहे। शहर के गेपसागर पाल स्थित श्रीखेड़ापति हनुमान मंदिर, नया महादेव मंदिर स्थित फतेहपुरा हनुमान, फतेहगढ़ी हनुमान मंदिर, हडमतपोल हनुमान मंदिर, शास्त्री कॉलोनी स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर, राजाजी छतरी हनुमान मंदिर और नवाडेरा स्थित हनुमान मंदिर में सुबह से अनुष्ठानों व श्रद्धालुओं की भीड़ लगी। यहां गणेश पूजन, मातृका पूजन, हनुमानजी पूजन, नवगृह रुद्र पूजन एवं हवन के कार्यक्रम हुए। शाम को नारियल होम के आयोजन में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने आहुतियां दी। श्रीहनुमानजी को आंक पत्तोंं व आभूषण द्वारा भव्य आंगी सजाई गई।