Hindi News »Rajasthan »Dungarpur» शहर के निजी अस्पताल की डायलिसिस मशीन के पानी में फंगस, दवा स्टोर पर फार्मासिस्ट नहीं, दोनों सील किए

शहर के निजी अस्पताल की डायलिसिस मशीन के पानी में फंगस, दवा स्टोर पर फार्मासिस्ट नहीं, दोनों सील किए

भास्कर संवाददाताद| डूंगरपुर शहर के पुराना बस स्टैंड के पास एक निजी अस्पताल के निरीक्षण में कई गड़बड़ियां सामने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:50 AM IST

शहर के निजी अस्पताल की डायलिसिस मशीन के पानी में फंगस, दवा स्टोर पर फार्मासिस्ट नहीं, दोनों सील किए
भास्कर संवाददाताद| डूंगरपुर

शहर के पुराना बस स्टैंड के पास एक निजी अस्पताल के निरीक्षण में कई गड़बड़ियां सामने आई हैं। अस्पताल में डायलिसिस मशीन के पानी में फंगस मिला तो दवा स्टोर पर फार्मासिस्ट नहीं होकर कोई और ही दवाएं दे रहा था। मेडिकल वेस्ट के निस्तारण के भी पुख्ता इंतजाम नहीं थे और न ही अस्पताल में काम करने वाले किसी स्टाफ के योग्यता संबंधी कोई दस्तावेज का रिकॉर्ड रखा गया था। इस पर चिकित्सा विभाग की टीम ने डायलिसिस मशीन और दवा स्टोर को सील कर दिया गया है। साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी है।

सीएमएचओ डॉ. राजेश शर्मा के नेतृत्व में एसीएमएचओ डॉ. आरसी वर्मा, ड्रग इंसपेक्टर धीरज शर्मा, एनएचएम के जतीन जोनवाल की टीम ने बुधवार को शहर के पुराना बस स्टैंड पर उपासना अस्पताल की जांच की गई तो कई गड़बड़ियां पाई गई। अस्पताल में दवा स्टोर खुला हुआ था। स्टोर पर एक फार्मासिस्ट का लाइसेंस लगा हुआ था, लेकिन वह खुद नहीं होकर कहीं और कार्यरत होने की जानकारी मिली। ऐसे में दवा काउंटर के गलत तरीके से संचालन पर टीम ने उसे सील कर दिया। ड्रग इंस्पेक्टर की ओर से दवाओं की अलग से जांच की जा रही है। वहीं अस्पताल में डायलिसिस मशीन भी रखी हुई थी, जिसमें लगे पानी में भारी मात्रा में फंगस था। इससे मरीज को संक्रमण होने का खतरा रहता है। अस्पताल के डॉ. काशीनाथदास से पूछने पर वह भी कोई सहीं जवाब नहीं दे सके। डायलिसिस के लिए कोई टैक्निशियन भी नहीं था। इस पर डायलिसिस के कमरे को भी सील कर दिया गया है।

निजी अस्पताल का निरीक्षण किया गया था। वहां पर कई गड़बड़ियां मिली है। डायलिसिस में फंगस था और दवा स्टोर पर फार्मासिस्ट नहीं था। वहां फार्मासिस्ट लाइसेंस धारक नहीं था और लाइसेंसी के कहीं और होने की जानकारी है। मेडिकल वेस्ट का निस्तारण सहीं नहीं पाया। कर्मचारियों के योग्यता संबंधी दस्तावेज भी उपलब्ध नहीं करवा पाए। - डॉ. राजेश शर्मा, सीएमएचओ

डायलिसिस के पानी में कोई फंगस नहीं था। फार्मासिस्ट कहीं बाहर काम से गया था। मेडिकल वेस्ट को वाहन आकर ले जाता है। कर्मचारियों के दस्तावेज भी दिए हैं। - डॉ. काशीनाथदास, उपासना जीवनरक्षा अस्पताल, डूंगरपुर

डायलिसिस मशीन के पानी में लगा फंगस।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dungarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×