• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Dungarpur News
  • हैंडपंपों में पानी का स्तर 300 फीट नीचे पहुंचा भूमिगत जल का सर्वे करने वाले अधिकारी ही नहीं
--Advertisement--

हैंडपंपों में पानी का स्तर 300 फीट नीचे पहुंचा भूमिगत जल का सर्वे करने वाले अधिकारी ही नहीं

गर्मी का मौसम, तापमान 42 डिग्री तक, तालाब और नाले भी सूख चुके हैं। हैंडपंप में भी पानी का लेवल 300 फीट तक नीचे चला गया है।...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:30 AM IST
हैंडपंपों में पानी का स्तर 300 फीट नीचे पहुंचा भूमिगत जल का सर्वे करने वाले अधिकारी ही नहीं
गर्मी का मौसम, तापमान 42 डिग्री तक, तालाब और नाले भी सूख चुके हैं। हैंडपंप में भी पानी का लेवल 300 फीट तक नीचे चला गया है। लगातार 15 मिनट तक हैंडपंप को चलाने के बाद ही पानी कहीं से ऊपर आता है, और नहीं आया तो ठीक है, पानी भरने वाले लोगों को दूसरा जुगाड़ करना है।

यह स्थिति जिले के सीमलवाड़ा और चौरासी क्षेत्र में ज्यादा है। इसके साथ ही डूंगरपुर से 15 किमी के दायरे में आने वाले हीराता, आंतरी, लोलकपुर गांवों में है। यहां पर पानी की किल्लत के कारण ग्रामीण सुबह ही या फिर रात्रि को हैंडपंप चलाकर 24 घंटे के पानी का जुगाड़ कर देते हैं। जैसे ही दिन खुलता है और गर्मी पड़नी शुरू हो जाती है तो पानी का लेवल नीचे चला जाता है।

हैरानी की बात तो यह है कि भूमिगत जल का लेवल जांचने वाले महकमे में कोई अभियंता और अधिकारी ही डूंगरपुर में नहीं हैं। मात्र एक चपरासी के भरोसे ही इस दफ्तर की चाबियां हैं। एक एक्सईएन ओर एक एईएन कार्यरत थे, लेकिन 15 दिन पहले ही इनका प्रमोशन हो गया है, ये दोनों ही जिला छोड़ चुके हैं। ऐसे में फिलहाल चपरासी ही ऑफिस को खोलकर साफ-सफाई कर देते हैं और फिल ताला लगाकर बाहर बैठते हैं।

डूंगरपुर. बांसड़वाड़ा क्षेत्र में हैंडपंप से पानी भरते हुए बच्चे।

पानी की समस्या को दिखाने वाली दो तस्वीर : आधे घंटे में भरती है बाल्टी, विभाग का 8 दिन में ठीक करने का दावा




डूंगरपुर. पीएचईडी की सप्लाई लाइन पर बाल्टी लगाकर पानी भरते हुए।


X
हैंडपंपों में पानी का स्तर 300 फीट नीचे पहुंचा भूमिगत जल का सर्वे करने वाले अधिकारी ही नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..