• Hindi News
  • Rajasthan
  • Dungarpur
  • Dungarpur News rajasthan news britishers drove out of india put the seeds of their culture in the roots of the tree acharya

अंग्रेज भारत से खदेड़ दिए, अपनी संस्कृति का बीज वृक्ष की जड़ों में डाल गए : आचार्य

Dungarpur News - सागवाड़ा। हमारा देश एक समृद्ध और चारित्रिक व सांस्कृतिक दृष्टि से अत्यंत सुदृढ देश है। एक ऐसा देश जहां प्रण के...

Feb 15, 2020, 08:21 AM IST
Dungarpur News - rajasthan news britishers drove out of india put the seeds of their culture in the roots of the tree acharya

सागवाड़ा। हमारा देश एक समृद्ध और चारित्रिक व सांस्कृतिक दृष्टि से अत्यंत सुदृढ देश है। एक ऐसा देश जहां प्रण के निर्वाह के लिये प्राणों का विसर्जन करने से भी नहीं चूकते। संस्कृति के संवाहक ऋषि और कृषि संस्कारों से संपन्न यह अत्यंत पौराणिक सभ्यता विश्व पटल पर सदैव सुवर्ण सी दमकती रही है। भारत जिसे सोने की चिडिय़ा और विश्वगुरु जैसे संबोधन से संपूर्ण विश्व में जाना जाता रहा था, आज वही अपनी जड़ों को खोता चला जा रहा है। यह बात आचार्य अनुभव सागर महाराज ने जैन बोर्डिंग में धर्म सभा में कही।

आचार्य ने कहा कि लगभग 200 वर्ष पूर्व 18 वीं शताब्दी में ब्रिटिश जनरल लॉर्ड मैकाले भारत भ्रमण पर आया था और यहां की सांस्कृतिक चमक को देख भौचक्का रह गया। उसने ब्रिटिश संसद में दिए अपने वक्तव्य में कहा कि भारत को शस्त्रों से जीतने का ख्याल भी करना व्यर्थ है, क्योंकि भारत का सांस्कृतिक ढांचा, शिक्षा की गुरूकुल पद्धति, पहनावा, संस्कार इतने मजबूत हैं कि उसे जीतने के लिये विशाल सेना भी सक्षम नहीं। हमारा दुर्भाग्य है कि भले ही अंग्रेज भारत से खदेड़ दिए गए परन्तु अपनी संस्कृति का बीज इस विशाल वृक्ष की जड़ों में डाल गए। तन की इस अग्नि में रही सही कसर सोशल मीडिया, टेलीविजन और इंटरनेट ने ईंधन डाल कर कर दी। फरवरी का यह सप्ताह और महीना वेलेंटाइन मंथ और वीक के रूप में इतना प्रसिद्ध हो गया जैसे कोई राष्ट्रीय त्यौहार है।

आचार्य अनुभव सागर महाराज।

X
Dungarpur News - rajasthan news britishers drove out of india put the seeds of their culture in the roots of the tree acharya

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना