भीषण गर्मी से भूजल स्तर में गिरावट, सूखने के कगार पर ज्यादातर बांध और तालाब

Dungarpur News - इस बार गर्मी चरम पर है, नदियों में पानी सूख चुका है तो तालाबों में पानी का जल स्तर लगातार कम होता जा रहा है। पारा...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:56 AM IST
Dungarpur News - rajasthan news depletion in ground water level with severe heat mostly dam and ponds on the verge of drying
इस बार गर्मी चरम पर है, नदियों में पानी सूख चुका है तो तालाबों में पानी का जल स्तर लगातार कम होता जा रहा है। पारा पिछले एक सप्ताह से 45 डिग्री के आसपास बना हुआ है। ऐसे में अगले कुछ दिनों में पानी का संकट खड़ा हो सकता हैं। जिले में 19 बड़े बांध तालाब हैं। सोम कमला आंबा, मेवाड़ा और मारगिया बांधों को छोड़ दे तो शेष में स्थितियां गंभीर हैं। अमरपुरा बांध से आसपास के कई गांवों में पेयजल की सप्लाई भी पाइपलाइन से होती है, लेकिन इसमें करीब दो मीटर ही पानी बचा है जो बारिश आने तक लोगों की प्यास बुझा सके, इसे लेकर संशय बना हुआ है। राहत की खबर यह कि 65 गांवों में पेयजल की सप्लाई के सोम कमला बांध में अभी पर्याप्त पानी हैं। यहां पिछले साल के मुकाबले एक मीटर ज्यादा पानी है। ऐसे में यहां 15 जुलाई तक किसी तरह की समस्या इन गांवों में आने की संभावना नहीं बनती हैं। वहीं मारगिया बांध में भी पानी इतना है आसपास के गांवों में लिफ्ट से पानी खींचकर प्यास बुझाई जा सकती है। इन बांधों में पानी होने से करीब गांवों का जल स्तर तो ठीक है। शहर में पेयजल की सप्लाई हाल में डीमिया और एडवर्ड संमद से होती है। शहर की सबसे बड़ी आबादी हाउसिंग बोर्ड, न्यू कॉलोनी में भूजल स्तर 200 फीट तक नीचे चला गया है। वहीं शहर के आसपास 15 किलोमीटर के दायरे में पानी 400 फीट तक नीचे चला गया है।

रात के अंधेरे में बोरवेल से खुदाई : गर्मी के मौसम शुरू होने के साथ ही शहर सहित जिले भर के गांवों में अवैध बोरवेल का कारोबार इन दिनों रात के अंधेरे में धडल्ले से चला रहा है। डूंगरपुर जिला के आसपुर क्षेत्र को छोड़ अन्य क्षेत्र डार्क जोन घोषित है। ऐसे में बोरवेल करने के लिए प्रशासन की अनुमति के बिना कहीं भी बोरवेल नहीं खोदा जा सकता है। लेकिन इसके बावजूद प्रशासन के नाक के नीचे रात के अंधेरे में धडल्ले से अवैध बोरवेल का कारोबार बड़े जोर-शोर से फल फूल रहा है।

डूंगरपुर. गर्मी के कारण सूखा सीमलवाड़ा का मुख्य तालाब।

शहर में 800 में और गांवों में हजार रुपए तक में बिक रहा टैंकर पानी

शहर में पेयजल समस्या जिन क्षेत्रों सबसे ज्यादा है वहां दो-दो परिवार 800 रुपए प्रति टैंकर चुका रहा हैं वहीं ग्रामीण क्षेत्र में एक हजार रुपए तक पानी टैंकर की वसूले जा रहे है। ऐसे में टैंकर का कामकाज भी खूब चल रहे है, लेकिन जिन कुओं से टैंकर भरे जा रहे है, वे भी भूल जल स्तर गिरावट का बडा कारण है। इसमें पुराने शहर और ब्रहस्थली कॉलोनी के कुछ कुंए उपयोग में लिए जा रहे है।

शहर के दो तालाब खाली होने की स्थिति में

शहर के पातेला तालाब में पानी लगभग खत्म होने के कगार है, तालाब के जल आवक मार्ग से पातेला का गंदा पानी तालाब में जा रहा है। वहीं शहर के प्रवेश मार्ग पर बने सुनेरिया तालाब का जल स्तर भी काफी कम हो रहा है।

X
Dungarpur News - rajasthan news depletion in ground water level with severe heat mostly dam and ponds on the verge of drying
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना