पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Pith News Rajasthan News Holi Of More Than 500 Teachers Faded Benefit Of Perpetuation Not Found

500 से अधिक शिक्षकों की होली फीकी,नहीं मिला स्थायीकरण का लाभ

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

प्रारंभिक शिक्षा विभाग में दिसंबर 2017 में लगे 500 से अधिक शिक्षकों के नियमितीकरण स्थायीकरण के अभाव में इस बार होली का त्योहार फीका रहेगा। सभी शिक्षकों ने अपनी फाइल तैयार कर पीईईओ और सीबीईईओ के माध्यम से जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक डूंगरपुर को जमा करा दी गई है।

जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय की ओर से जानबूझकर विलंब किया जा रहा है। जिसको लेकर कई बार इन शिक्षकों ने राष्ट्रीय शिक्षक संघ के डॉक्टर ऋषिन चौबीसा व सियाराम संघ के अध्यक्ष विश्राम कटारा के माध्यम से ज्ञापन दिया जा चुका है। उसके बाद भी 3 माह बाद भी स्थिति जस की तस है। ऐसे में सभी शिक्षकों ने मांग की कलेक्टर को बात को गंभीरता से लेने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक को निर्देश देने अन्यथा पिछली बार लेवल वन के शिक्षकों की तरह 8 माह बाद स्थायीकरण होगा। अन्य जिलों में इनके बाद लगे शिक्षकों के स्थाईकरण आदेश हो चुके हैं जबकि अपने यहां फाइल अभी जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय में ही है। यहां से जिला परिषद में अनुमोदन होने के बाद वापस जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय में आएगी उसके बाद स्थाईकरण आदेश जारी होंगे। इतनी लंबी प्रक्रिया के बाद भी अभी तक फाइल जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय में होना जानबूझकर देरी करना ही होता है। शिक्षकों ने मांग की कि जल्द से जल्द इन फाइलों को जिला परिषद कार्यालय में भेजा जाए अन्यथा बीकानेर निदेशालय व मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया जाएगा। स्थायीकरण से शिक्षकों के वेतन वृद्धि 23700 से 33 800 रुपए, महंगाई भत्ता, एचआरए, होम लोन के लिए स्थायीकरण होना जरूरी होता है। डूंगरपुर जिले की परंपरा रही है कि शिक्षकों का स्थायीकरण 6 माह से पहले नहीं होता है पूर्व में वर्ष 2013 की भर्ती का 2 साल बाद स्थाईकरण आदेश जारी हुए 2016 लेवल वन के 8 माह बाद स्थायीकरण आदेश जारी हुए वर्ष 2016 लेवल 2 के 3 माह होने के बाद भी स्थायीकरण नहीं हुआ।

खबरें और भी हैं...