सोच को पॉजिटिव बना कर रखो तो कुछ भी असंभव नहीं : मुनि प्रतीक सागरजी

Dungarpur News - जैन बोर्डिंग में रविवार को जैन समाज के बच्चों के लिए अमृत संस्कार विधि महोत्सव हुआ। इसमें समाजजनों ने बढ़चढ़ कर...

Jan 06, 2020, 10:55 AM IST
जैन बोर्डिंग में रविवार को जैन समाज के बच्चों के लिए अमृत संस्कार विधि महोत्सव हुआ। इसमें समाजजनों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। क्रांतिवीर मुनि प्रतीक सागर महाराज ने संस्कार विधि का शुभारंभ सरस्वती मां के 108 मंत्र जाप से किया। उसके बाद बालिकाओं ने नृत्य, मंगलाचरण किया। मुनि के मुखारविंद से उच्चारित मंत्रोचारण के साथ माता पिता द्वारा चंदन, पीली सरसों आदि मंगल द्रव्यों को मस्तक पर क्षेपण कर बच्चों को जैन व्रत ग्रहण कराएं। शांति मंत्र बोलकर गंधोदक की वृष्टि की।

मुनि ने सोने के कलम से बच्चों की जीभ पर बीज मंत्रों का लेखन किया और अष्ट मुलगुण, टीवी मोबाइल का प्रयोग न करते हुए भोजन करने का संकल्प दिलाया। बच्चों ने प्रतिदिन मंदिर जाने का नियम लिया। भक्ति मय वातावरण में बालक बालिकाओं ने सफेद वस्त्र और मस्तक पर मुकुट लगा कर संस्कार शिविर में उत्साह के साथ हिस्सा लिया। मुनि ने धर्म सभा को सं‍बोधित करते हुए कहा कि जिन्दगी आसान बनाकर जिओ और सामान कम से कम रखो। अधिक बोझ लेकर चलने वाल मंजिल तक नहीं पहुंचता है। पानी सरल होने के कारण सभी जगह स्थान बना लेता है और प्रसन्न मन हसमुख स्वभावी व्यक्ति सभी का दिल जीत कर हदय में स्थान बना लेता है। मुनि ने कहा मार्ग तो आसान होता है मगर हमारी सोच कठिन को सरल बना देती है। सोच को पॉजिटिव बना कर रखो तो कुछ भी असंभव नहीं है। महापुरुष आकाश से नहीं आए वह भी मां के गर्भ में नौ महीने रह कर जन्म लिया है। हर आत्मा में परमात्मा बनने की शक्ति विधमान है। मुनि ने कहा कि महिलाओं को भोजन शुद्धि पर ध्यान देना चाहिए। इसलिए चप्पल पहनकर और टीवी, मोबाइल आदि का प्रयोग करते हुए भोजन नहीं बनाना चाहिए। णमोकार मंत्र, भक्ताम्बर, चालीसा, बोलते हुए भोजन पकाना चहिए। जिससे भोजन मंत्रित हो जायेगा। सोमवार को सुबह 9 बजे अमृत संस्कार प्रवचन सभा का आयोजन जैन बोर्डिंग में होगा।

धर्म समाज संस्था

सागवाड़ा. अमृत संस्कार विधि करते मुनि प्रतिकसागर।

सागवाड़ा. अमृत संस्कार विधी के दौरान मौजूद समाजजन और बच्चें।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना