पुण्य करने से ही जीवन की सार्थकता

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 10:05 AM IST

Dungarpur News - रींछा में सुपार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में विराजमान पूज्य आचार्य विमद सागर महाराज ससंघ विराजमान है। शुक्रवार...

Sabla News - rajasthan news meaning of life by virtue of virtue
रींछा में सुपार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में विराजमान पूज्य आचार्य विमद सागर महाराज ससंघ विराजमान है। शुक्रवार को आचार्य ने धर्म सभा को संबोधित करते हुए कहा कि संसार में जीव जन्म लेता है और मरण को भी प्राप्त होता हैं। दो प्रकार की दृष्टि होती है कोई जीव पाप लेकर आता है और पुण्य करके चला जाता है एवं कोई जीव पुण्य लेकर आता है। पाप करके चला जाता है। जैन कुल में वो व्यक्ति जन्म लेता है। इसका पुण्य कर्म का उदय होता है। बिना पुण्य के जैन कुल में जन्म लेना असंभव है। नगर में दिगंबर मुनियों का आना भी पुण्य कर्मों का उदय है। आचार्य ने कहा कि भगवान को तुम थोड़े चावल चढ़ाओ या फिर बहुत सारे चावल चढ़ाओ। भगवान का छोटे कलश से अभिषेक करो या बड़े कलश से अभिषेक करो। यह महत्वपूर्ण नहीं है। महत्वपूर्ण तो यह है कि तुम कितने अच्छे भाव के साथ भगवान को चावल चढ़ा रहे हो।

धर्म सभा के पूर्व में चित्र अनावरण, पाद पक्षालन आदि कार्यक्रम हुए।समाज के शंकरलाल, शिखरमल, धनपाल, श्रीपाल, दिलीप सहित पारसोला, साबला आदि गांवाें के जैन समाज के श्रद्धालु मौजूद रहे।

आचार्य विमदसागरजी महाराज।

धर्म समाज संस्था

साबला. रीछा में धर्मसभा में मौजूद जैनबंधु।

Sabla News - rajasthan news meaning of life by virtue of virtue
X
Sabla News - rajasthan news meaning of life by virtue of virtue
Sabla News - rajasthan news meaning of life by virtue of virtue
COMMENT