• Hindi News
  • Rajasthan
  • Dungarpur
  • Dungarpur News rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it

सांप के काटने पर पास की सीएचसी छोड़ भोपे के पास गए, हालत बिगड़ी तो अस्पताल लाए, मृत बताया तो फिर झाड़-फूंक कराया

Dungarpur News - भास्कर संवाददाता|गामड़ी अहाड़ा गांव के यादव बस्ती में एक प्राैढ़ महिला गुरुवार सुबह सांप के डसने से अचेत हो गई।...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:05 AM IST
Dungarpur News - rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it
भास्कर संवाददाता|गामड़ी अहाड़ा

गांव के यादव बस्ती में एक प्राैढ़ महिला गुरुवार सुबह सांप के डसने से अचेत हो गई। परिजन महिला को अस्पताल ले जाने के बजाय वजेला मार्ग की नट बस्ती में भोपे से झाड़फूंक करवाने ले गए। इस दौरान महिला की तबीयत ठीक होने के बजाए और बिगड़ती गई। इस पर 108 एबुलेंस की मदद से डूंगरपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर आए। यहां डॉक्टर ने जांच के बाद महिला को मृत घोषित कर दिया। पर, यहां भी परिजनों की डॉक्टर की बात का भी यकीन नहीं हुआ और घर ले जाने के बजाय अंधविश्वास के चलते धंबोला गांव के पास झाड़ फूंक करने वाले के पास ले गए। यहां भी ठीक नहीं होने पर परिजन उसे परसाद व भौराईगढ़ ले जाने की तैयारी में थे। इस बीच समाज के कुछ लोगों ने इसे गलत बताया और विरोध किया। समझाइश के बाद शव को वापस घर ले आए। यहां पर दाह संस्कार किया गया।

जानकारी के अनुसार गामड़ी अहाड़ा यादव बस्ती निवासी पूंजी (60 वर्ष) प|ी दलजी यादव गुरुवार सुबह 6 बजे शौच के लिए घर से बाहर खेतों की तरफ गई थी। वापस लौटते समय पैर में सांप ने काट लिया। महिला घर पहुंची और थोड़ी देर में ही अचेत होकर गिर पड़ी। घर से कुछ दूरी के फासले पर सीएचसी था, इसके बावजूद परिजन अस्पताल ले जाने के बजाए महिला को दो किलोमीटर दूर नटबस्ती में भोपे के पास झाड़फूंक कराने के लिए ले गए। यहां महिला की तबीयत में कोई सुधार नहीं हुआ। समाज और गांव के कुछ अन्य जागरूक लोगों को जानकारी मिलने पर 108 को कॉल करके मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचाया। यहां पहुंचे, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया। मृतका के 3 पुत्र है जो अहमदाबाद में रोजगाररत है। घर पर पति प|ी दोनों ही रहते थे।

पूंजी यादव।

यादव बस्ती में शाैच के लिए बाहर गई बुजुर्ग महिला को सांप ने काटा, इलाज के बजाए भोपों के चक्कर काटते रहे परिजन, सीधे अस्पताल जाते तो बच सकती थी जान

परसाद आैर भौराईगढ़ ले जाने की हो रही तैयारी, समाज के दखल के बाद समझाइश

यहां डॉक्टर की ओर से महिला को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद भी परिजन मृतका को जिंदा करने के लिए जतन करने नजर आए। डॉक्टर की ओर से मृत घोषित करने के बाद इसे दोबारा डूंगरपुर से 35 किलोमीटर दूर धंबोला तक ले गए। पर, यहां इन्होंने साफ मना कर दिया। इसके बाद कुछ लोगों ने परसाद व भौराईगढ़ जाने की बात बोली। इसकी तैयारी हो रही थी। कुछ लोगों की समझाइश के बाद परिजनों ने महिला को मृत माना।

बड़ा सवाल
एक तरफ सरकार की तरफ से हर घर शौचालय की मुहिम चल रही है। वहीं गांव की यादव बस्ती में किसी भी घर में शौचालय नहीं होने से महिला व ग्रामीणों को गांव से दूर शौच के लिए जाना पड़ता है। जबकि, दो वर्ष पूर्व जिला प्रशासन ने पूरे जिले को ओडीएफ घोषित किया था। वहीं, इस बस्ती में एक घर में शौचालय नहीं हैं। इस बस्ती के लोगों ने कई बार ग्राम पंचायत को लिखित व मौखिक रूप से अवगत कराया गया है, लेकिन शौचालय की सुविधा नहीं मिल पाई। हमने सरपंच-सचिव से बात करने के खूब प्रयास किए, पर किसी ने मोबाइल नहीं उठाया। अब इस घटना ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं, जो जांच का विषय बन चुके हैं। आखिर जब पूरा जिला ओडीएफ घोषित है तो यहां पूरी बस्ती के घर पर शौचालय क्यों नहीं है। या फिर यहां शौचालय बनाया ही नहीं गया और इसके पैसे उठा लिए। या फिर इस योजना के बारे में इन्हें बताया ही नहीं गया। आिखर क्या कारण रहे, किसकी लापरवाही रही जिस वजह से अभी तक इस बस्ती में शौचालय नहीं पहुंचा। साथ ही ओडीएफ घोषित करने के लिए होने वाली सर्वे पर भी सवाल खड़े हो गए है कि किस आधार पर जिले को ओडीएफ घोषित किया गया।

इसलिए चलती है भोपों की दुकान

पर्यावरण और जीव-जंतु के जानकार वीरेन्द्रसिंह बेड़सा बताते है कि हमारे यहां पाए जाने वाले सांपों में 80 फीसदी बिना जहर वाले होते हैं। सांप काटने पर व्यक्ति बहुत ज्यादा डर जाता है। इनको झाड़फूंक करने वाले के पास ले जाते तो वह कह देता है कि मैंने इसे ठीक कर दिया है, जबकि सांप के डसने का व्यक्ति पर कोई असर नहीं हुआ है। ऐसे में भोपों का कारोबार चलता रहता हैं।

बदलेंगे समाज स्तर पर परंपरा

यादव समाज के ओमप्रकाश यादव बताते है कि हमें इसकी सूचना एक घंटे बाद मिली। हम समाज के दो-चार जनों के साथ भोपे के वहां गए। यहां देखा कि महिला की जुबान बात करते वक्त लडख़ड़ा रही थी। इस पर 108 को कॉल किया। जिला अस्पताल ले गए। यहां मृत घोषित कर दिया गया। हम समाज स्तर पर इस मुद्दे को उठाएंगे और सबसे अपील करेंगे कि ऐसी घटना पर तत्काल चिकित्सालय पहुंचाने पर ही मरीज की जान बचाई जा सकती हैं।

गामड़ी अहाड़ा. मृतका का घर, जहां पर नहीं है शौचालय की सुविधा।

एक्सपर्ट व्यू

भोपों के फेर में नहीं पड़े, मरीजों को तत्काल चिकित्सालय पहुंचाएं

हमारे यहां पर जहर व बिना जहर वाले दोनों तरह के सांप होते हैं। लोगों को सांप काटने पर झाड़फूंक से दूर रहना चाहिए। अस्पताल आने वाले 50 प्रतिशत मामलों में परिजन मरीजों को पहले अंधविश्वास के चलते झाड़फूंक कराने वाले के पास ले जाते हैं। ऐसे में जहरीले सांप के काटने पर बचाना मुश्किल हो जाता हैं। सांप काटने पर जितना जल्दी हो सके, चिकित्सालय पहुंचा दे। मरीज को हर हाल में बचा लिया जाएगा। देरी होने पर मरीज को बचाना मुश्किल हो जाता है। यह तो तय है कि जहरीले सांप का जहर सिर्फ दवाइयों से ही ठीक होगा। इसमें कोई भोपा ठीक नहीं कर सकता हैं। देरी मौत का ही कारण बनेगी। इसलिए परिजनों के साथ ही समाज को भी सजग होना होगा। डॉ आजेश कुमार, हरिदेव जोशी सामान्य चिकित्सालय

Dungarpur News - rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it
Dungarpur News - rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it
X
Dungarpur News - rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it
Dungarpur News - rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it
Dungarpur News - rajasthan news on the snake bite left the nearby chemistry of chc went to bhope the condition was brought to the hospital it was said to be dead and then threw it
COMMENT