गृहस्थ जीवन में रहते हुए कर्तव्य और जिम्मेदारी निभाना किसी तप से कम नहीं: कनकनंदी

Dungarpur News - सागवाड़ा। धर्माचार्य कनकनंदी महाराज ने मंगलवार को नंदौड़ में प्रवचन में कहा कि जीवन में अहंकार बहुत नुकसानदायक...

Dec 04, 2019, 12:05 PM IST
Sagwara News - rajasthan news performing duty and responsibility while living in household life is no less than tenacity kanakanandi
सागवाड़ा। धर्माचार्य कनकनंदी महाराज ने मंगलवार को नंदौड़ में प्रवचन में कहा कि जीवन में अहंकार बहुत नुकसानदायक होता हैं। अहंकार और अहम को जिसने अपनाया है उसके जीवन का अंत बुरा होता है। जीवन ईमानदारी, परिश्रम और सदाचार के साथ जीना चाहिए। धर्माचार्य ने गृहस्थ जीवन के वृत, जप, तप और सिद्धांतों के बारे में बताते हुए कहा कि श्रम की हमेशा पूजा होती है इसके लिए चाहे ऋषि बनो अथवा कृषि करो। आचार्य ने कहा कि जिसने अपने स्वरूप को जान लिया तथा आध्यात्मिक ज्ञान को अपना लिया वह अहंकार छोड़ कर अरिहंत के सामान जीवन व्यतीत करता है। किसी की बुराई और निंदा करना अपमान होता है लेकिन जो आत्मज्ञानी होते हैं वह बुराई पर विजय प्राप्त कर लेते हैं। गृहस्थ जीवन में रहते हुए कर्तव्य और जिम्मेदारी निभाने के साथ संयम और धैर्य के साथ जीवन यापन करना किसी तप से कम नहीं है।

X
Sagwara News - rajasthan news performing duty and responsibility while living in household life is no less than tenacity kanakanandi
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना