पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Dungarpur News Rajasthan News Postcard Campaign Will Be Run To Not Include Dungarpur In Jal Shakti Campaign

जलशक्ति अभियान में डूंगरपुर शामिल नहीं जोड़ने के लिए चलेगा पोस्टकार्ड अभियान

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | डूंगरपुर

केंद्र सरकार की ओर से पानी की सु-उपलब्धता के लिए शुरू किया गए जलशक्ति अभियान में डूंगरपुर निकाय का चयन नहीं किया गया। प्रदेश के 29 जिलों की 111 निकाय में जलशक्ति अभियान चलेगा। ऐसे में डूंगरपुर शहर नगर निकाय का चयन नहीं होने पर सभापति केके गुप्ता ने आपत्ति दर्ज कराई है। गुप्ता ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान में नगर परिषद डूंगरपुर पूरे भारत में छठे और राजस्थान में पहले स्थान पर है। इसके अलावा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, पर्यावरण संरक्षण के तहत पेड़-पौधे लगाने और वाटर हार्वेस्टिंग पर अच्छे ढंग से कार्य किया जा रहा है। सभापति ने बताया कि वर्ष 2017 में स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण में डूंगरपुर निकाय को शामिल नहीं करने पर सबसे पहले विरोध यहां से दर्ज कराया गया था। इसके बाद वर्ष 2018 से डूंगरपुर निकाय स्वच्छता में प्रदेश में अव्वल है। ऐसे में डूंगरपुर शहर के लोगों के साथ धोखा करते हुए जलशक्ति अभियान में चयन नहीं किया गया।

फ्लोराइड ग्रसित पेयजल पी रहे है शहरवासी

सभापति गुप्ता ने बताया कि जलशक्ति अभियान के माध्यम से पूरे शहर पेयजल में सुधार करने का अच्छा मौका था। जलशक्ति अभियान में बजट की उपलब्धता के साथ ही शहरवासियों के लिए पानी आसानी से मिल सकता है। फिलहाल शहर का विकास होने के साथ ही डिमिया और एंडवर्ड समंद पर पानी की डिमांड ज्यादा होती जा रही है। आने वाले समय में जनसंख्या में इजाफा होने के बाद पेयजल मिलना मुश्किल है। ऐसे में शहर के विकास के लिए जलशक्ति अभियान की सख्त आवश्यकता है। शहर सहित पूरा जिला फ्लोराइड से प्रभावित है। यहां पर भूमिगत जल में 1000 टीडीएस तक फ्लोराइड आता है। ऐसे में अधिकांश समय पेयजल के लिए सरकारी नलों पर निर्भर रहना पड़ता है। पुराने शहर में आज भी पेयजल पाइपलाइन 40 साल पुरानी है। जो टूट-फुट होने के साथ ही पुरानी हो चुकी है। इससे आए दिन पेयजल समस्याएं होती है।

डूंगरपुर की जनता के साथ धोखा

गुप्ता ने बताया कि डूंगरपुर शहर ने पिछले चार वर्षों में स्वच्छता में बेहतरीन कार्य किया है। जो शहर की जनता के सहयोग से हुआ है। ऐसे में जलशक्ति अभियान में जनता की भावना को खत्म कर उसका चयन नही किया गया। इसके कारण यहां के विकास को रोकने का काम किया है। शहर की जनता को जलशक्ति अभियान में सम्मिलित करने के लिए पुन: प्रयास किया जाएगा। जलशक्ति अभियान के तहत डूंगरपुर निकाय का चयन नहीं होने के कारण आंदोलन किया जाएगा। शहर की जनता के हक के लिए राज्य और केंद्र सरकार तक अपनी मांग रखी जाएगी। इसके लिए पोस्टकार्ड अभियान से शुरुआत होगी। शहर के प्रत्येक व्यक्ति मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के नाम पोस्टकार्ड लिखकर जलशक्ति अभियान में शामिल करने की मांग रखेंगा।

खबरें और भी हैं...