4 साल से अलग रह रहे पति-पत्नी में कराया समझौता, जुड़ा रिश्ता

Dungarpur News - पारिवारिक न्यायालय, में एक वर्ष से लंबित चल रहे प्रकरण में दम्पति तनाव के दौर से गुजर रहे थे। रिश्तों की नाजुक डोर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:15 AM IST
Dungarpur News - rajasthan news relationship between husband and wife separated from 4 years connected relationship
पारिवारिक न्यायालय, में एक वर्ष से लंबित चल रहे प्रकरण में दम्पति तनाव के दौर से गुजर रहे थे। रिश्तों की नाजुक डोर टूटने के कगार पर थी। हाल यह था कि दम्पति का मिलन अब असंभव ही था। परन्तु बिगड़ती बात को सुलह के प्रयास की दिशा में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से संवाद-समझाइश का दौर चला।

टूटे रिश्तों के कई उदाहरण सामने रखे। अंतत: चार वर्ष से अलग रह रहे दंपत्ति नरेश कुमार एवं विभा ने एक-दूसरे को माला पहनाई। नये सिरे से जिंदगी शुरू करने की बात कहते हुए खुशी-खुशी साथ-साथ रहने की शपथ ली। पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश एमआर सुथार, सदस्य वकील कमलेश पण्डा, मकसूद अली ने इस प्रकरण को गंभीरता से लिया था। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अमित सहलोत ने बताया कि इस वर्ष की दूसरी राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन जिला मुख्यालय तालुका स्तर पर किया। लोक अदालत में 10 बेंचों का गठन किया। इसमें जिला मुख्यालय पर पांच बैंच, तालुका सागवाड़ा में दो, सीमलवाडा, आसपुर, बिछीवाड़ा में एक-एक बैंच का गठन किया। जिला मुख्यालय पर गठित बैंच संख्या की अध्यक्षता प्राधिकरण के अध्यक्ष महेन्द्र सिंह सिसोदिया, पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश एमआर सुथार, मोटरवाहन दुर्घटना दावा अधिकरण न्यायाधीश नाहरसिंह मीणा, प्राधिकरण सचिव अमित सहलोत, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राजन खत्री ने की। सागवाड़ा में गठित बैंच की अध्यक्षता अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश कृष्णचंद मोड, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रतिश कुमार गर्ग, सीमलवाड़ा में न्यायिक मजिस्ट्रेट मनीष जोशी, आसपुर में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रेमप्रकाश जीनगर, बिछीवाड़ा में ग्राम न्यायाधिकारी कुलदीप राव ने अध्यक्षता की। सीमलवाड़ा में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंक ऑफ बड़ौदा पीठ की ओर से वरिष्ठ शाखा प्रबंधक अनिल कुमार, कृषि अधिकारी कृष्णा ने ऋण खातों में समझौते किए गए।

363 प्रकरण का निस्तारण कर 3.14 करोड़ की अवार्ड राशि पारित : राष्ट्रीय लोक अदालत में डूंगरपुर न्यायक्षेत्र के 121 एमएसीटी रेफर प्रकरणों में से 54 प्रकरणों का निस्तारण किया जाकर राशि 2 करोड़ 20, लाख 15 हजार पांच सौ रुपए की अवार्ड राशि पारित की गई। इसमें से 99 एमएसीटी रेफर प्रकरणों में से 52 प्रकरणों का अध्यक्ष नाहरसिंह मीणा बैंच ने निस्तारण कर 2 करोड छह लाख पचपन हजार रुपए की अवार्ड राशि पारित की गई। डूंगरपुर न्यायक्षेत्र के न्यायालय में लंबित 1216 रेफर प्रकरणों में से कुल 278 प्रकरणों का निस्तारण किया गया।

डूंगरपुर. दंपती ने एक साथ रहने की शपथ लेकर पहनाई माला।

X
Dungarpur News - rajasthan news relationship between husband and wife separated from 4 years connected relationship
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना