• Hindi News
  • Rajasthan
  • Dungarpur
  • Dungarpur News rajasthan news today39s youth is not lost not getting proper guidance only mother can show him direction sadhvi ritambhara

आज का युवा भटका नहीं, उचित मार्गदर्शन नहीं मिल रहा है, सिर्फ मां ही उसे दिशा दिखा सकती है: साध्वी ऋतंभरा

Dungarpur News - दीदी मां साध्वी ऋतंभरा का शुक्रवार को डूंगरपुर शहर में 30 वर्ष बाद आगमन हुआ। इस अवसर पर उन्होंने दैनिक भास्कर से...

Feb 15, 2020, 08:25 AM IST
Dungarpur News - rajasthan news today39s youth is not lost not getting proper guidance only mother can show him direction sadhvi ritambhara

दीदी मां साध्वी ऋतंभरा का शुक्रवार को डूंगरपुर शहर में 30 वर्ष बाद आगमन हुआ। इस अवसर पर उन्होंने दैनिक भास्कर से विशेष वार्ता में कहा कि भारत का युवा काफी ऊर्जावान है लेकिन आज उसे मार्गदर्शन की जरूरत है। युवा भटका नहीं हैं, मार्गदर्शन विहीन हो गया है। और उसे यह मार्गदर्शन उसकी मां ही दे सकती है। लेकिन आज की माता भी अपनी संतानों से दूर होती है जा रही है। माताओं की यह दूरी ही युवाओं के दिशाहीन होने की बड़ी वजह है।

दीदी मां ने कहा कि जेएनयू यूनिवर्सिटी जैसे और भी विश्वविद्यालय है जहां हम अपने पुत्रों को पढऩे के लिए भेजते हैं लेकिन पुत्र पढ़ाई तो कर नहीं पा रहा है, दिशाहीन होकर भारत विरोधी नारे लगा रहा है। युवाओं को दिशाहीन देखकर आज मेरा मन काफी व्याकुल है। दीदी मां ने कहा कि मैंने युवाओं को सही दिशा देने और माताओं की अपनी संतानों से बढ़ती दूरी को खत्म करने के लिए वात्सल्य वाणी- राष्ट्र के नाम अभियान शुरू किया है। दीदी मां ने बताया कि उनके द्वारा देशभर में भ्रमण करते हुए कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। दीदी मां ने बताया कि शक्ति तो प्रत्येक व्यक्ति के भीतर विराजमान है, आवश्यकता केवल उसको जाग्रत करने की होती है। वह शक्तिमान तो होता है लेकिन उसे अपनी शक्ति का बोध नहीं होता है। उसमें बहुत कुछ करने की सामथ्र्य तो होती है लेकिन अपनी ही सामथ्र्य से उसका परिचय नहीं होता। उसके मन में संकल्प तो है लेकिन उसके प्रति दृढ़ता नहीं होती है। प्रत्येक हनुमान को एक जामवंत की आवश्यकता होती है। हम सारी सृष्टि की जय जयकार करें लेकिन यह काम पराजित मनोवृति नहीं कर सकती है। इसके लिए हमारे मन में जयी भाव होना बहुत जरूरी है। जब हमारे मन में यह भाव होता है तब हम सृष्टि की केवल जय जयकार ही नहीं करेंगे, बल्कि उसके संरक्षण के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को निभाते भी है। यह जिम्मेदारी आज के इस वातावरण में बहुत बड़ी है। यदि इसको निभाने में हम जरा भी चूके तो पर्यावरण दूषित हो जाएगा। यही स्थिति आज हमारे देश के युवा के साथ है। दीदी मां ने बताया कि हमने संकल्प लिया था कि राम मंदिर वहीं बनाएंगे। और अब रामजी का मंदिर धूमधाम से बन रहा है। संकल्प सिद्धी जरूरी है। लेकिन संकल्प पूरा करने के लिए दुराचार नहीं होना चाहिए। दीदी मां ने कहा कि जब भी सनातन धर्म पर संकट आया है तो संतों ने ही आगे आकर बागडोर संभाली है।

गेपसागर पाल पर वत्सल्य वाणी कार्यक्रम में संबोधित करतीं दीदी मां साध्वी ऋतंभरा।

X
Dungarpur News - rajasthan news today39s youth is not lost not getting proper guidance only mother can show him direction sadhvi ritambhara
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना