दूनी

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Dooni News
  • एक दिन पहले बहनों को विदा किया, दूसरे दिन भाई की करंट से मौत
--Advertisement--

एक दिन पहले बहनों को विदा किया, दूसरे दिन भाई की करंट से मौत

थाना क्षेत्र के चांदसिंहपुरा गांव की दो बहनों ने सपने में भी नहीं सोचा था कि एक दिन पहले शादी के बाद जिस भाई के गले...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:50 AM IST
एक दिन पहले बहनों को विदा किया, दूसरे दिन भाई की करंट से मौत
थाना क्षेत्र के चांदसिंहपुरा गांव की दो बहनों ने सपने में भी नहीं सोचा था कि एक दिन पहले शादी के बाद जिस भाई के गले मिल कर ससुराल के लिए विदाई ली थी, वह विदाई उनके लिए आखिरी होगी, लेकिन कहते है ना कि नीयती के आगे के किसी की नहीं चलती। इन दोनों बहनों पर भी ऐसी ही गुजरी। उनका दुलारा छोटा भाई जोधराज (15) पुत्र रतनलाल गुर्जर की बुधवार दोपहर को गांव में तुडी से भरा ट्रक झूलते तारों से स्पर्श होने के बाद घरों में फेले करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। ऐसे में दो बहनों की विदाई के एक दिन बाद ही उनका भाई हमेशा के लिए इस दुनिया से ही विदा हो गया। इस पर शादी की खुशियां मातम में बदल गई। दोनों बहनों की तो मानो दुनिया ही विरान हो गई। पूरे परिवार में मातम छा गया। हर किसी का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। शादी में शामिल होकर अपने-अपने गांव के लिए रवाना हुए रिश्तेदार, परिचित आदि भी इस दुखद समाचार को सुनकर शौक स्तब्ध रह गए।

एएसआई बालकिशन शर्मा ने बताया कि दूनी थाना क्षेत्र के चांदसिहपुरा गांव निवासी 15 वर्षीय जोधराज पुत्र रतनलाल गुर्जर की सोमवार को दो बहनों की शादी थी। मंगलवार शाम को उन्हें खुशी के माहौल में गाजे-बाजे के साथ हंसी-खुशी बारात के साथ विदा किया था। बुधवार को शादी की थकान मिटाने के लिए दोपहर 3 बजे जोधराज घर पर ही कूलर चलाकर सो रहा था। इस दौरान उसके घर के बाहर से गुजर रहा तुडी से भरा ट्रक हाईटेंशन लाइन के झूलते तारों से छू गया। इससे लाइट का पावर बढ़ गया। इससे घरों के उपकरणों में करंट आ गया। ऐसे में जोधराज के कूलर में करंट आ गया। इस कूलर के जोराज का हाथ टच होने से उसकी करंट से झुलस गया। इसका पता लगने पर उसे अस्पताल लाया गया था। यहां कुछ देर बाद ही उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इसी के साथ ही उसके घर में काेहराम मच गया। उसकी बहिनों के पास भी उसकी मौत की खबर सुनी तो पांच तले की जमींन सी खिसक गई। उनकी शादी की खुशिया मातम में बदल गई। वै जेैसे-तैसे वापस रोती-बिलकती गांव आई। उधर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों के सुपुर्द कर जांच शुरू कर दी है। वहीं परिजनों आदि ने शाम को गमगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार किया। सोमवार को शादी के बाद मंगलवार को जोधराज की दोनों बहनें परिजनों से विदाई लेकर अपने-अपने ससुराल में चली गई थी। वहां बुधवार को उनका स्वागत सत्कार होने के बाद मंगल गीतों के बीच मिलने वालों का तांता लगा हुआ था। इसी बीच बुधवार शाम को जैसे ही जोधराज की मौत की सूचना पहुंची तो वे शौक स्तब्ध रह गई।

दूनी. उपचार के लिए लाए गए चंादसिहपुरा निवासी जोधराज गुर्जर की मौत की जानकारी मिलते ही बिलखते परिजन।

X
एक दिन पहले बहनों को विदा किया, दूसरे दिन भाई की करंट से मौत
Click to listen..