Hindi News »Rajasthan »Eklera» चहेतों को ज्यादा आवंटन, दूसरे डीलरों को जरूरत का भी नहीं

चहेतों को ज्यादा आवंटन, दूसरे डीलरों को जरूरत का भी नहीं

रसद विभाग में चहेते डीलरों को फायदा पहुंचाने के लिए उन पर ऐसी मेहरबानी की कि जरूरत से ज्यादा गेहूं आवंटित कर दिया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 23, 2018, 02:45 AM IST

रसद विभाग में चहेते डीलरों को फायदा पहुंचाने के लिए उन पर ऐसी मेहरबानी की कि जरूरत से ज्यादा गेहूं आवंटित कर दिया। जबकि अधिकतर डीलरों के पास जरूरत का गेहूं भी नहीं पहुंच पा रहा है।

ऐसे में एक तरफ ज्यादा गेहूं आवंटित होने से कालाबाजारी की पूरी संभावना रहती है, वहीं दूसरी ओर लोग डीलर को कम मिलने से गेहूं के लिए तरस रहे हैं। जबकि नियमानुसार यदि अधिक आवंटन हो भी जाता है तो उसको अगले माह के आवंटन में समायोजित किया जाता है। ताजा मामला फरवरी का आया है। इसमें 50 से अधिक डीलरों को उनके यहां राशन कार्डों की संख्या से अधिक आवंटन किया गया है। इसको लेकर भास्कर टीम ने पड़ताल की। राशन की दुकानों पर पोस मशीन से होने वाले आवंटन, वितरण की पूरी जानकारी ऑनलाइन निकाली। एफपीएस नंबर से राशन डीलरों का विवरण निकाला। इसी विवरण से पता चला कि इसमें गड़बड़ी का खेल चल रहा है। इस प्रक्रिया से कालाबाजारी पर काफी हद तक अंकुश तो लगा है, लेकिन उसके बावजूद भी गड़बड़ियां करने के लिए गली निकाल ली गई है।

कहीं डीलरों को अधिक आवंटन से मिला ज्यादा तो कहीं कमी मिलने से लोगों को नहीं मिल पा रहा है गेहूं

ऐसे चलता है खेल

दुकानों पर रसद विभाग उप आवंटन करता है। यह उप आवंटन रसद विभाग के द्वारा संबंधित दुकान पर अंत्योदय योजना के कार्ड और राशन कार्ड के हिसाब से गेहूं दिया जाता है। इसके बाद राशन डीलरों को इसका वितरण करना होता है। इसमें यह भी देखा जाता है कि पिछले माह में यदि कोई अधिशेष बचा है तो उसको भी समायोजित किया जाए। बस यहीं से गड़बड़ी का खेल शुरू हो जाता है। जो चहेते डीलर होते हैं उन दुकानों पर अधिशेष को समायोजित नहीं कर कुछ मात्रा में अधिक आवंटन भी कर दिया जाता है।

इन 4 मामलों से समझिए गड़बड़ी कैसे हुई

अकलेरा की ग्राम मेठून प्रथम की दुकान पर दिसंबर का 19.36 क्विंटल गेहूं अधिशेष बचा हुआ है। फरवरी में 173.11 क्विंटल का आवंटन कर दिया गया। जबकि यहां पर 101.30 क्विंटल की ही जरूरत है। यहां 80 क्विंटल गेहूं का अधिक आवंटन हो गया है।

पिड़ावा के रामपुरिया डीलर को 72.85 क्विंटल गेहूं की ही जरूरत है, यहां पर 99.92 क्विंटल गेहूं का आवंटन किया।

झालावाड़ के वार्ड 10 में फरवरी में राशन डीलर को गेहूं वितरण में 31.55 क्विंटल की जरूरत रही है, जबकि यहां पर 26.80 क्विंटल गेहूं ही आवंटित किया गया। ऐसे में यहां पर कई उपभोक्ताओं को गेहूं नहीं मिल रहा है।

मनोहरथाना ब्लॉक के कामखेड़ा में 99.35 क्विंटल गेहूं की ही जरूरत है, यहां पर 122.98 क्विंटल गेहूं का आवंटन हुआ है।

राशन की दुकानों पर आवंटन सही किया गया है, कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। जहां पर भी अधिक आवंटन होता है उसको हम अगले माह में समायोजित कर लेते हैं। प्रतिमा देवठिया, जिला रसद अधिकारी झालावाड़

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Eklera

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×