--Advertisement--

तीनधार से आसलपुर चौराहे तक बने मेगा हाइवे

क्षेत्र की जनता द्वारा तीनधार से आसलपुर चौराहे तक मेगा हाइवे बनाने के मांग लंबे समय से की जा रही है। इससे रटलाई व...

Dainik Bhaskar

Feb 10, 2018, 04:40 AM IST
तीनधार से आसलपुर चौराहे तक बने मेगा हाइवे
क्षेत्र की जनता द्वारा तीनधार से आसलपुर चौराहे तक मेगा हाइवे बनाने के मांग लंबे समय से की जा रही है। इससे रटलाई व भालता के विकास की संभावनाएं बढ़ेगी। 50 किमी लंबे इस मार्ग से रीछवा, रटलाई व भालता सहित लगभग 150 गांव जुडे़ हैं। राजस्थान व मध्यप्रदेश को जोड़ने वाला होने के कारण यह मार्ग व्यापारिक दृष्टि से काफी अहम हैं। जो तीनधार से अकलेरा हाइवे से होकर जाने की तुलना में करीब 20 किमी कम पड़ता हैं। इस रूट पर मेगा हाइवे का निर्माण होने से क्षेत्र का विकास होने के साथ-साथ इस रोड पर यातायात के साधन भी बढ़ेंगे। इसलिए क्षेत्र की जनता को राज्य सरकार के आगामी बजट से मेगा हाइवे की उम्मीद है।

मांग

50 किमी लंबे इस मार्ग से रीछवा, रटलाई व भालता सहित लगभग 150 गांव जुडे़ हैं

रटलाई. रटलाई से होकर भालता जाने वाला मार्ग। जिसको बजट में मेगा हाइवे बनाने की सरकार से उम्मीद है।

रात के समय सुरक्षित नहीं

वर्तमान समय में रात के वक्त रटलाई से भालता ओर आसलपुर मार्ग सुरक्षित नहीं माना जाता हैं। क्योंकि यह करीब 10 किमी जंगल से होकर गुजरता हैं । रात में वाहन भी बहुत कम निकलते हैं। बीते सालों में इस मार्ग पर कई वारदातें भी हुई हैं । मेगा हाइवे बनने पर इस रूट पर वाहनों के बढ़ने से अपराधिक वारदातों पर भी रोक लगेगी। इस मेगा हाइवे के निर्माण से क्षेत्र के विभिन्न वर्ग के लोगों को राहत मिलेगी। यातायात के वाहनों के बढ़ने से बीमार लोगों इलाज के लिए झालावाड़ पहुंचाने तथा विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए कॉलेज जाने तथा विभिन्न कार्यों से लोगो को जिला मुख्यालय जाने में सुविधा मिलेगी। इनके लिए वर्तमान में लोगों को परेशान होना पड़ रहा है।

X
तीनधार से आसलपुर चौराहे तक बने मेगा हाइवे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..