Hindi News »Rajasthan »Eklera» दुर्घटना संभावित इलाके में लगाया रंबल स्ट्रिप; हर माह 3 हादसे होते थे, अब 6 माह से एक भी नहीं

दुर्घटना संभावित इलाके में लगाया रंबल स्ट्रिप; हर माह 3 हादसे होते थे, अब 6 माह से एक भी नहीं

झालावाड़| नेशनल हाइवे 52 तीनधार से अकलेरा की ओर हादसे रोकने के लिए कई जगह रंबल स्ट्रिप्स बनाए गए हैं। स्पीड ब्रेकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 30, 2018, 12:50 PM IST

झालावाड़| नेशनल हाइवे 52 तीनधार से अकलेरा की ओर हादसे रोकने के लिए कई जगह रंबल स्ट्रिप्स बनाए गए हैं। स्पीड ब्रेकर से बिल्कुल अलग रंबल स्ट्रिप्स सड़क हादसों में कमी ला रहे हैं। तुरकाड़िया मार्ग पर काफी अधिक हादसे होते थे, लेकिन यहां पर नेशनल हाइवे की ओर से रंबल स्ट्रिप्स बनाए गए। इसके बाद यहां पर सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है।

यहां पर प्रति माह तीन से अधिक हादसे होने पर इस क्षेत्र को ब्लैक स्पॉट घोषित किया हुआ है। जब से यहां पर रंबल स्ट्रिप बनी है तब से 6 माह में कोई हादसा नहीं हुआ है। विशेषज्ञों का कहना है कि रंबल स्ट्रिप दूर से ही वाहन चालक का ध्यान आकर्षित करता है। इसके बाद वाहन चालक अलर्ट हो जाता है और खुद ब खुद वाहन की गति कम कर लेता है। रंबल स्ट्रीप एक साथ कई सफेद पट्टीनुमा दिखाई देती है। इसमें जब वाहन गुजरते हैं तो वाहनों में कंपन उत्पन्न होता है और कड़कड़ की आवाज भी आती है। इससे वाहन चालक काे अलर्ट रहने का संकेत मिल जाता है। जब से नेशनल हाइवे की नई सड़क बनी तब से यहां चमचमाती हुई सड़क पर हादसों की संख्या भी बढ़ गई थी। असनावर में 2015 में 35 सड़क दुर्घटनाएं हुईं। इसमें 16 मृतक रहे और 35 घायल हुए। रंबल स्ट्रिप लगने के बाद 2017 में 33 सड़क दुर्घटनाएं हुईं। इनमें मृतकों की संख्या घटकर 13 रह गई।

झालावाड़.नेशनल हाइवे 52 तुरकाड़िया रोड पर सड़क पर बनी रंबल स्ट्रिप।

रंबल स्ट्रिप ऐसे रोकती है सड़क हादसे

दो- दो किमी के अंतर पर रंबल स्ट्रिप सड़कों पर लगाई जानी चाहिए। एक रंबल स्ट्रिप की चौड़ाई 8 इंच, लंबाई 1.2 फीट रहती है। रंबल स्ट्रिप लगने से वहन चालक को दूर से ही रिफ्लेक्ट होंगी। इससे वह स्वतः ही गति को धीमी कर लेगा। रंबल स्ट्रीप मैटलिक रेडीमेड उपलब्ध होती हैं। इसमें कैट आईजी होते है इसके चलते वह चमकती है। इन्हें खरीदकर केवल सड़क पर ठोक दिया जाता है। इसमें लगी हुई मैटलिक स्ट्रिप की आयु दस साल रहती है।

2-3 लाख में लग जाती है रंबल स्ट्रिप

रंबल स्ट्रिप 2 से 3 लाख रुपए की लागत में लग जाती है। इसको लगाने में ज्यादा खर्च नहीं अाता है। नेशनल हाइवे पर स्पीड ब्रेकर लगाने पर रोक है। इस कारण अब रंबल स्ट्रीप लगाई जा रही हैं।

हाइवे पर अधिक हादसों को देखते हुए रंबल स्ट्रीप लगाए गए हैं। इनके लगाने के बाद हादसों में कमी आई है। रंबल स्ट्रीप से वाहनों में कंपन उत्पन्न होता है और आवाज आती है। इसके चलते वाहन चालक गति को धीमी रखते हैं। नेशनल हाइवे पर स्पीड ब्रेकर का नियम नहीं होने के बाद अब रंबल स्ट्रीप लगाई जा रही है। अनुपम गुप्ता, प्रोजेक्ट डायरेक्टर नेशनल हाइवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Eklera News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: durghtnaa snbhaavit ilaake mein lagaya rnbl strip; har maah 3 haadse hote the, ab 6 maah se ek bhi nahi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Eklera

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×