• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Eklera News
  • यहां 2 से 5 हजार में खरीदी व महाराष्ट्र में 50 हजार में बेची 17 बिस्वा जमीन
--Advertisement--

यहां 2 से 5 हजार में खरीदी व महाराष्ट्र में 50 हजार में बेची 17 बिस्वा जमीन

महाराष्ट्र के लोगों के नाम पर कृषि भूमियों की रजिस्ट्रियां करवाने के मामले में दो थानों में दर्ज हुई रिपोर्ट के...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 04:15 PM IST
महाराष्ट्र के लोगों के नाम पर कृषि भूमियों की रजिस्ट्रियां करवाने के मामले में दो थानों में दर्ज हुई रिपोर्ट के बाद पुलिस की जांच जारी है। अभी तक दलाल सुरेंद्र सिंह के ठिकानों पर छापे मारे गए, लेकिन इसमें पुलिस को सफलता नहीं मिल पाई। इसके बाद पुलिस टीमें महाराष्ट्र जाकर जिनके नाम पर रजिस्ट्रियां हुई हैं उनकी जांच करके आई है।

भालता और घाटोली थाने से दो टीमें रवाना हुई थीं जिनकी महाराष्ट्र में जांच पूरी हाे चुकी है और अब वह अपने-अपने थानों पर लौट आए हैं। इसमें सामने आया कि जोधपुर निवासी दलाल यहां से दो से पांच हजार रुपए बीघा में महाराष्ट्र के लोगों के नाम पर कृषि भूमियों की रजिस्ट्रियां करवा कर उनसे 17 बिस्वा के 50 हजार रुपए तक लिए हैं। टीम ने जब महाराष्ट्र जाकर जिनके नाम पर रजिस्ट्रियां दर्ज हुई हैं उनसे पूछताछ की तो उन लोगों को यह भी पता नहीं है कि उनके खिलाफ राजस्थान के दो थानों में मामले दर्ज हो चुके हैं। पुलिस को उन लोगों ने बताया कि राजस्थान में सस्ती दर पर कृषि भूमियों के बेचान का विज्ञापन प्रकाशित हुआ तो उसमें दिए नंबरों पर दलाल सुरेंद्रसिंह से संपर्क किया। उसके बाद उसने पॉवर ऑफ अटार्नी के जरिए राजस्थान में कृषि भूमियों की खरीद की बात बताई। इंटरनेट पर देखने पर इनका काम सही लगा और इनको पॉवर ऑफ अटार्नी दी गई। महाराष्ट्र के लोगों से मिलने के बाद पुलिस ने जोधपुर निवासी दलाल के तीन ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन अभी तक उसका कोई पता नहीं चल पाया। शेष 14 पर

किसानों पर पड़ी दोहरी मार, पहली जमीन हाथ से गई दूसरा फसल खराबे का मुआवजा महाराष्ट्र वालों के नाम आ रहा

महाराष्ट्र के लोगों के नाम पर रजिस्ट्रियां करवाने के मामले में किसानों पर अब दोहरी मार पड़ रही है। पहली उनके हाथ से जमीनें चली गईं। दूसरी अब फसल खराबे का मुआवजा सीधा महाराष्ट्र वालों के नाम से आ रहा है। अकलेरा क्षेत्र के भालता सहित अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में कई ऐसे किसान हैं जिनका मुआवजा अब महाराष्ट्र के लोगों को मिलेगा। किसानों का कहना है कि मुआवजा दिलाने के नाम पर रजिस्ट्रियां करवा ली गई हैं। इसी को लेकर रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।


भास्कर न्यूज | झालावाड़

महाराष्ट्र के लोगों के नाम पर कृषि भूमियों की रजिस्ट्रियां करवाने के मामले में दो थानों में दर्ज हुई रिपोर्ट के बाद पुलिस की जांच जारी है। अभी तक दलाल सुरेंद्र सिंह के ठिकानों पर छापे मारे गए, लेकिन इसमें पुलिस को सफलता नहीं मिल पाई। इसके बाद पुलिस टीमें महाराष्ट्र जाकर जिनके नाम पर रजिस्ट्रियां हुई हैं उनकी जांच करके आई है।

भालता और घाटोली थाने से दो टीमें रवाना हुई थीं जिनकी महाराष्ट्र में जांच पूरी हाे चुकी है और अब वह अपने-अपने थानों पर लौट आए हैं। इसमें सामने आया कि जोधपुर निवासी दलाल यहां से दो से पांच हजार रुपए बीघा में महाराष्ट्र के लोगों के नाम पर कृषि भूमियों की रजिस्ट्रियां करवा कर उनसे 17 बिस्वा के 50 हजार रुपए तक लिए हैं। टीम ने जब महाराष्ट्र जाकर जिनके नाम पर रजिस्ट्रियां दर्ज हुई हैं उनसे पूछताछ की तो उन लोगों को यह भी पता नहीं है कि उनके खिलाफ राजस्थान के दो थानों में मामले दर्ज हो चुके हैं। पुलिस को उन लोगों ने बताया कि राजस्थान में सस्ती दर पर कृषि भूमियों के बेचान का विज्ञापन प्रकाशित हुआ तो उसमें दिए नंबरों पर दलाल सुरेंद्रसिंह से संपर्क किया। उसके बाद उसने पॉवर ऑफ अटार्नी के जरिए राजस्थान में कृषि भूमियों की खरीद की बात बताई। इंटरनेट पर देखने पर इनका काम सही लगा और इनको पॉवर ऑफ अटार्नी दी गई। महाराष्ट्र के लोगों से मिलने के बाद पुलिस ने जोधपुर निवासी दलाल के तीन ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन अभी तक उसका कोई पता नहीं चल पाया। शेष 14 पर


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..