--Advertisement--

देवीपुरा बालाजी में 121 दीपकों से हुई महाआरती

सीकर. देवीपुरा बालाजी में आरती करते श्रद्धालु। भास्कर संवाददाता | सीकर कलियुग के एकमात्र जाग्रत देवता के रूप...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 04:45 AM IST
देवीपुरा बालाजी में 121 दीपकों से हुई महाआरती
सीकर. देवीपुरा बालाजी में आरती करते श्रद्धालु।

भास्कर संवाददाता | सीकर

कलियुग के एकमात्र जाग्रत देवता के रूप में पूजे जाने वाले हनुमानजी का जन्मोत्सव शनिवार को विशेष संयोग में मनाया गया। श्रद्धालुओं की आस्था शहर के देवीपुरा बालाजी, सोमोलाई धाम, लंकापुरी हनुमान, इच्छापूर्ण बालाजी, फतेह बालाजी, दिव्य बाल हनुमान सहित कई मंदिरों में दिखी। शहर के समस्त हनुमान मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना कर भंडारे का आयोजन किया गया। शहर के विभिन्न स्थानों से निशान पदयात्राओं से शहर धर्ममय हो गया। श्रद्घालुओं ने हनुमान मंदिर पूजा पाठ कर बजरंग बली को चोला चढ़ाया। मंदिरों में दिनभर सुंदरकांड पाठ का आयोजन व श्रीराम नाम संकीर्तन चलता रहा। इस अवसर पर कई जगह भंडारों का भी आयोजन किया गया।

शहर में एक बाल हनुमान मंदिर | शहर में एकमात्र बाल हनुमान मंदिर है। इसमें मारुति नंदन के बालस्वरूप की पूजा अर्चना की जाती है। बजरंग बली के बाल रूप की आराधना बेहद कल्याणकारी मानी गई है। बाल हनुमान की पूजा से कई समस्याओं का निवारण हो जाता है। चांदपोल गेट के बाहर बने दिव्य बाल हनुमान मंदिर की स्थापना शहर के स्थापना के समय की है। पुजारी महेश जोशी ने बताया कि मंदिर की स्थापना को 300 वर्ष हो गए हैं। मंदिर में भगवान की बालस्वरूप में पूजा होती है।

कई वर्षों से करते हैं आराधना | फतेहपुरी गेट के पास स्थित लंकापुरी बालाजी मंदिर लोगों की आस्था केंद्र है। मंदिर 250 वर्ष से अधिक पुराना है। मंदिर में 35 वर्षों से आने वाले जानकी प्रसाद इंदोरिया ने बताया कि यह मंदिर पहले एक छाेटी सी गुमटी में बना हुआ था। वे इस मंदिर में नियमित रूप से दर्शन करने आते हैं। इसके अलावा पवन जैन भी मंदिर में नियमित हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं।

शहर के सभी मंदिरों में अभिषेक

देवीपुरा बालाजी धाम में भगवान का अभिषेक कर पांच किलो विभिन्न प्रकार के पुष्पों से शृंगार किया गया। पुजारी पवन महाराज ने बताया कि रामायण सत्संग मंडल की आेर से संगीतमय सुंदरकांड के पाठ किए गए एवं रात्रि में आयोजित भजन संध्या में फतेहाबाद की किरण शर्मा सहित कई गायकों ने भजनों की प्रस्तुति दी। श्री सोमोलाई परिवार की ओर से बद्रीविहार से निशान पदयात्रा निकाली गई। महामंदिर रोड स्थित कल्याण मंदिर परिसर में बने दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में सुंदरकांड एवं हनुमान चालीसा के पाठ किए गए। मंदिर के महंत विष्णु प्रसाद शर्मा ने बताया अभिषेक के बाद भक्तों में प्रसादी का वितरण किया। श्री बड़ा तालाब बालाजी मंदिर सेवा समिति की हनुमान जन्मोत्सव पर शहर की समृद्धि के लिए यज्ञ किया गया। पुराना दूजोद गेट में फतेह बालाजी के मंदिर में पं. रामअवतार मिश्र के सानिध्य में भगवान का अभिषेक कर नूतन चोला अर्पित किया। श्री झल्डा वाले बालाजी धाम कंवरपुरा रोड नाथावतपुरा में हनुमान जन्मोत्सव मनाया। पं. रामाशंकर दाधीच ने बताया कि सुबह महाआरती के बाद भगवान को छप्पन भोग लगाए गए। बालाजी नवयुवक मंडल ने शोभायात्रा निकाली।।

चिड़िया टीबा बालाजी सेवा समिति की ओर से चिड़िया टीबा बालाजी हनुमान जन्मोत्सव पर कलश यात्रा निकाली गई। भगवान के जन्मोत्सव के बाद सवामणी का प्रसाद किया गया। डूंगरी धाम पुरा बड़ी में हनुमान जन्मोत्सव पर मेले का आयोजन के किया। श्री हनुमान जन्मोत्सव पर श्री लंकापुरी बालाजी धाम फतेहपुरी गेट में निशान पदयात्रा निकाली।बालाजी धाम में आकांक्षा मित्तल बिजनौर व राजेंद्र खींची ने भजनों की प्रस्तुति दी।

लंकापुरी बालाजी की निशान यात्रा।

मुस्लिम समाज ने निशान यात्रा पर पुष्प वर्षा कर किया स्वागत

उदय सेवा संस्थान ने हिन्दू-मुस्लिम एकता व सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए हनुमान जन्मोत्सव पर विभिन्न स्थानों से निकली निशान यात्राओं का फूलों से स्वागत किया। संस्थान के अध्यक्ष डॉ. जाकिर बडग़ुर्जर ने बताया कि शहर में सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहे, इसलिए संस्थान के हिन्दू-मुस्लिम समाज के कार्यकर्ताओं ने श्री लंकापुरी बालाजी की शोभायात्रा व निशान यात्रा का जाटिया बाजार, सुभाष चौक, गोपीनाथ मंदिर के पास, फतेहपुरी गेट आदि स्थानों पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।

हनुमान जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में निकाली निशान पदयात्रा | विधायक रतन लाल जलधारी के आवास से निशान पदयात्रा रवाना होकर गणेश मंदिर,जाटिया बाजार, स्टेशन रोड, कोर्ट रोड, पिपराली रोड होते हुए जलधारी नगर स्थित पिपली बालाजी धाम पहुंची। पिपराली रोड पर अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष नदीम गोरी के नेतृत्व में पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया। जगह-जगह निशान पदयात्रा का पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया। पिपली बालाजी धाम में महिलाओं द्वारा भजन कीर्तन भी किए गए।

भास्कर संवाददाता | सीकर

कलियुग के एकमात्र जाग्रत देवता के रूप में पूजे जाने वाले हनुमानजी का जन्मोत्सव शनिवार को विशेष संयोग में मनाया गया। श्रद्धालुओं की आस्था शहर के देवीपुरा बालाजी, सोमोलाई धाम, लंकापुरी हनुमान, इच्छापूर्ण बालाजी, फतेह बालाजी, दिव्य बाल हनुमान सहित कई मंदिरों में दिखी। शहर के समस्त हनुमान मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना कर भंडारे का आयोजन किया गया। शहर के विभिन्न स्थानों से निशान पदयात्राओं से शहर धर्ममय हो गया। श्रद्घालुओं ने हनुमान मंदिर पूजा पाठ कर बजरंग बली को चोला चढ़ाया। मंदिरों में दिनभर सुंदरकांड पाठ का आयोजन व श्रीराम नाम संकीर्तन चलता रहा। इस अवसर पर कई जगह भंडारों का भी आयोजन किया गया।

शहर में एक बाल हनुमान मंदिर | शहर में एकमात्र बाल हनुमान मंदिर है। इसमें मारुति नंदन के बालस्वरूप की पूजा अर्चना की जाती है। बजरंग बली के बाल रूप की आराधना बेहद कल्याणकारी मानी गई है। बाल हनुमान की पूजा से कई समस्याओं का निवारण हो जाता है। चांदपोल गेट के बाहर बने दिव्य बाल हनुमान मंदिर की स्थापना शहर के स्थापना के समय की है। पुजारी महेश जोशी ने बताया कि मंदिर की स्थापना को 300 वर्ष हो गए हैं। मंदिर में भगवान की बालस्वरूप में पूजा होती है।

कई वर्षों से करते हैं आराधना | फतेहपुरी गेट के पास स्थित लंकापुरी बालाजी मंदिर लोगों की आस्था केंद्र है। मंदिर 250 वर्ष से अधिक पुराना है। मंदिर में 35 वर्षों से आने वाले जानकी प्रसाद इंदोरिया ने बताया कि यह मंदिर पहले एक छाेटी सी गुमटी में बना हुआ था। वे इस मंदिर में नियमित रूप से दर्शन करने आते हैं। इसके अलावा पवन जैन भी मंदिर में नियमित हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं।

शहर के सभी मंदिरों में अभिषेक

देवीपुरा बालाजी धाम में भगवान का अभिषेक कर पांच किलो विभिन्न प्रकार के पुष्पों से शृंगार किया गया। पुजारी पवन महाराज ने बताया कि रामायण सत्संग मंडल की आेर से संगीतमय सुंदरकांड के पाठ किए गए एवं रात्रि में आयोजित भजन संध्या में फतेहाबाद की किरण शर्मा सहित कई गायकों ने भजनों की प्रस्तुति दी। श्री सोमोलाई परिवार की ओर से बद्रीविहार से निशान पदयात्रा निकाली गई। महामंदिर रोड स्थित कल्याण मंदिर परिसर में बने दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में सुंदरकांड एवं हनुमान चालीसा के पाठ किए गए। मंदिर के महंत विष्णु प्रसाद शर्मा ने बताया अभिषेक के बाद भक्तों में प्रसादी का वितरण किया। श्री बड़ा तालाब बालाजी मंदिर सेवा समिति की हनुमान जन्मोत्सव पर शहर की समृद्धि के लिए यज्ञ किया गया। पुराना दूजोद गेट में फतेह बालाजी के मंदिर में पं. रामअवतार मिश्र के सानिध्य में भगवान का अभिषेक कर नूतन चोला अर्पित किया। श्री झल्डा वाले बालाजी धाम कंवरपुरा रोड नाथावतपुरा में हनुमान जन्मोत्सव मनाया। पं. रामाशंकर दाधीच ने बताया कि सुबह महाआरती के बाद भगवान को छप्पन भोग लगाए गए। बालाजी नवयुवक मंडल ने शोभायात्रा निकाली।।

चिड़िया टीबा बालाजी सेवा समिति की ओर से चिड़िया टीबा बालाजी हनुमान जन्मोत्सव पर कलश यात्रा निकाली गई। भगवान के जन्मोत्सव के बाद सवामणी का प्रसाद किया गया। डूंगरी धाम पुरा बड़ी में हनुमान जन्मोत्सव पर मेले का आयोजन के किया। श्री हनुमान जन्मोत्सव पर श्री लंकापुरी बालाजी धाम फतेहपुरी गेट में निशान पदयात्रा निकाली।बालाजी धाम में आकांक्षा मित्तल बिजनौर व राजेंद्र खींची ने भजनों की प्रस्तुति दी।

X
देवीपुरा बालाजी में 121 दीपकों से हुई महाआरती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..