मजिस्ट्रेट पर जूता फेंकने के आरोपित को 3 साल की सजा

Gangapur News - भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी न्यायालय में सुनवाई के दौरान मजिस्ट्रेट पर जूता फेंकने के आरोपित को अतिरिक्त मुख्य...

Dec 04, 2019, 09:27 AM IST
भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी

न्यायालय में सुनवाई के दौरान मजिस्ट्रेट पर जूता फेंकने के आरोपित को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शालिनी गोयल ने तीन साल की सजा सुनाई है। आरोपित लाबू उर्फ अजीज ने न्यायाधीश अंकुर गुप्ता पर न्यायालय में सुनवाई के दौरान जूता फैंक दिया था। अभियोजन अधिकारी मंजूलता दुबे ने बताया कि 2 अप्रैल 2018 को सरकार बनाम लाबू उर्फ अजीज मामले में निर्णय की तारीख नियत थी, दोपहर करीब 12:50 बजे पर आरोपित को न्यायिक अभिरक्षा से न्यायालय में पेश किया गया था। मामले की सुनवाई कर रहे पीठासीन अधिकारी अंकुर गुप्ता प्रकरण में दोष सिद्ध करते हुए सजा के बिन्दु सुना रहे थे। इसी दौरान आरोपित लाबू ने अपने पैर से जूता उतारकर पीठासीन अधिकारी पर फेंका जो न्यायाधीश के दाहिने कंधे पर लगा और उन्हें चोट आई।

इसके बाद आरोपित ने पीठासीन अधिकारी को जान से मारने की नीयत से हमला करने का प्रयास किया तथा झपटकर संबंधित पत्रावली की आदेशिका को फाड़ दिया। उसने पत्रावली को रीडर रविन्द्र कुमार सिंहल से जबरन छीनकर फाड़ने की कोशिश की और न्यायिक कार्य में बाधा उत्पन्न की। आरोपित ने न्यायाधीश को जान से मारने की भी धमकी दी।

हंगामे के दौरान एडवोकेट अनिल कुमार दुबे ने बीच बचाव किया तो आरोपित ने उनके साथ भी मारपीट की। घटना के दौरान एडवोकेट भानु सिंहल, परमानंद शर्मा, तरुण शर्मा व अन्य अधिवक्ता व न्यायालय स्टाफ तथा चालानी गार्ड सुरेश कुमार व विक्रम कुमार ने उस पर काबू पाया। मामले की सुनवाई के दोनों पक्षों के तर्क सुनने के बाद अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने आरोपित लाबू उर्फ अजीज को तीन वर्ष के कारावास की सजा सुनाई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना