फूड पॉइजनिंग : शादी की बची मिठाई दुकानदार ने खरीदी, सस्ते दाम में काॅलोनी में बेची, 44 बीमार

Gangapur News - भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी शादी में बची हुई मिठाई खाकर शहर की राजीव कालोनी में 44 जने बीमार हो गए। सभी को मंगलवार...

Dec 04, 2019, 09:27 AM IST
भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी

शादी में बची हुई मिठाई खाकर शहर की राजीव कालोनी में 44 जने बीमार हो गए। सभी को मंगलवार रात अचेतावस्था में सामान्य चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। दरअसल कालोनी के ही एक दुकानदार ने शादी में बची हुई यह मिठाई खरीदी थी और ठेले पर कालोनी में बेची थी लेकिन जिसने भी यह मिठाई खाई वह फूड पॉइजनिंग का शिकार हो गया। एकसाथ इतने लोगों को फूड पॉइजनिंग की शिकायत होने और सभी के अस्पताल में भर्ती होने पर अस्पताल में अफरातफरी का माहौल हो गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए चिकित्सालय में इमरजेंसी ड्यूटी का ऐलान किया गया और पूरा स्टाफ ड्यूटी पर आ गया। सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

गार्डों ने खाली कराए वार्ड

काॅलोनी में जिसने भी शादी से बचा गाजर का हलवा और मिठाई खाई वही बीमार होता गया। एक के बाद एक कालोनी के लोगों का अस्पताल पहुंचने का सिलसिला शुरू हुआ और बड़ी संख्या में कालोनी के लोग भी अस्पताल में जमा हो गए। इससे अस्पताल में अफरातफरी का माहौल हो गया। बीमार लोगों के साथ परिजन भी अस्पताल में आ गए और वार्डों में पैर रखने को जगह नहीं बची जिसके चलते चिकित्सकों को उपचार में परेशानी हो रही थी। इसके बाद चिकित्सालय प्रशासन ने गार्डों को वार्ड में बुलाया और गार्डों में अनावश्यक लोगों को वार्ड से बाहर निकाला तब जाकर चिकित्सक मरीजों का उपचार शुरू कर पाए।

वार्ड में कहीं पैर रखने की भी जगह नहीं

एसडीएम-पीएमओ-पुलिस पहुंची

पहला शाम 6:30 बजे, रात 11:45 तक आते रहे मरीज

फूड पॉइजनिंग का पहला केस शाम करीब 6:30 बजे अस्पताल आया लेकिन चिकित्सालय स्टाफ ने इसे सामान्य उल्टी दस्त समझा। इसके बाद शाम करीब 8 बजे तक कई और लोग भी पेटदर्द, उल्टी दस्त, जी मिचलाने, चक्कर आने, बेहोशी और शरीर में ऐंठन की शिकायत लेकर पहुंचे, तब तक तो अस्पताल प्रशासन इसे सामान्य ही समझता रहा लेकिन जब सभी लोग एक ही इलाके से आने लगे और मरीजों की तादाद बढ़ने लगी तो चिकित्सालय कार्मिकों को फूड पॉइजनिंग का माजरा समझ आने लगा।

गरीबों की इस काॅलोनी में बची मिठाइयां बिकती हैं

जिस काॅलोनी में शादी से बची यह मिठाई बेची गई वह आमतौर पर गरीब तबके की कालोनी है और यहां आमतौर पर शादियों से बची हुई मिठाइयां लोग बेचकर जाते हैं। दुकानदार सस्ती दरों पर यह मिठाई ठेलों पर काॅलोनी में बेचते हैं। मंगलवार को भी यही हुआ और यह मिठाई खाकर लोग बीमार हो गए। पीड़ितों में ज्यादातर बच्चे थे। चिकित्सकों के मुताबिक बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है इसलिए वे जल्दी ही बैक्टीरिया या संक्रमण का शिकार होकर बीमार हो जाते हैं।

एक बिस्तर पर दो-दो मरीजों का इलाज

जांच करेंगे, मुकदमा दर्ज होगा, कड़ी कार्रवाई होगी

थानाधिकारी हरजीलाल यादव ने बताया कि निश्चित तौर पर इस प्रकरण में मुकदमा दर्ज होगा। शुरूआती जांच में सामने आया है कि राजीव कालोनी में परचूनी की दुकान करने वाले रफीक नाम के आदमी ने शादी में बची हुई यह मिठाई खरीदी थी और कालोनी में ठेला घुमाकर बेची थी। सस्ती दर पर मिठाई खरीदने के लालच में कालोनी के लोगों ने मिठाई खरीदी और लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार हो गए। मामले की जांच की जाएगी, मिठाई कहां से आई, किसने खरीदी, किसने बेची, किसने खाई सबकी जिम्मेदारी तय करके नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

अफसर पहुंचे मौके पर

सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। उपखंड अधिकारी विजेंद्र मीणा, थाना अधिकारी हरजीलाल और अन्य अधिकारी अस्पताल पहुंचे और हालात का जायजा लिया। अस्पताल में भीड़ को काबू करने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल भी अस्पताल में तैनात किया गया।

क्या होती है फूड पॉइजनिंग और क्यों होती है

सामान्य चिकित्सालय के फिजिशन डा. आरसी मीणा के मुताबिक बासी खाने में कई तरह के बैक्टीरिया पैदा होते हैं, इनमें से कुछ हानिकारक होते हैं और कुछ नहीं, हानिकारक बैक्टीरिया पनप गया और इस खाने को किसी ने खाया तो यह फूड पॉइजनिंग होती है। अलग अलग बैक्टीरिया के अलग अलग लक्षण हैं। कुछ बैक्टीरिया मौत का कारण भी बन सकते हैं। उल्टी, दस्त, पेटदर्द, जी मिचलाना इसके आम लक्षण हैं।

पूरे स्टाफ को बुलाया

फूड पॉइजनिंग की घटना सामने आने के बाद पीएमओ डा. दिनेश गुप्ता ने इस बारे में सीएमएचओ को अवगत कराया। सीएमएचओ के निर्देश पर अस्पताल के सभी चिकित्सकों व नर्सेज को रात को ही इमरजेंसी कॉल का ड्यूटी पर बुलाया गया। सूचना के कुछ ही देर में पूरा स्टाफ मरीजों की तीमारदारी में जुट गया।

इन्हें कराया भर्ती

शिमरा (4) पुत्री राशिद, अलफेज (1) पुत्री खुर्शीद, आयत (2) पुत्री फिरोज, अमीना बोनो (53) प|ी सलीम, अरशी (5) पुत्री भूरा, आमीना (56) प|ी सलीम, सोबिया (2) पुत्री सरफद्दीन, आकिब (3) पुत्र अमजद, आमिर (3) पुत्र सलीम, फैजान (7) पुत्री सरफुद्दीन, रिहान (11) पुत्र निजामुद्दीन, नुसरत (5) पुत्र नजरुद्दीन, जाकिर (3) पुत्र फिरोज, जोया (4) पुत्री शानू, नादिश (7) पुत्र नासिर, रेहान (7) पुत्र अलीम, आदिल (17) पुत्र सलीम, गोलू (20) पुत्र गफ्फार, अल्फिजा (14) पुत्री अनीश खान, लाइबा (9) पुत्री जाकिर, हुमेरा (7) पुत्री सादिक, नाजिमा (12) पुत्री सादिक, आलिया (17) पुत्री आदिल, रुखसाना (31) प|ी अतीक, सतीश (27) पुत्र सीताराम, नैना (11) पुत्री अलीम, इकरा (4) पुत्री फिरोज, तस्लीम (23) पुत्री सलीम, आदिल (18) पुत्र आरिफ, काडू (13) पुत्र पप्पू, दानिश (16) पुत्र बबलू, अली (2) पुत्र नौशाद, सीनम (5) पुत्री नौशाद, रेणु (7) पुत्री सलीम, सुहाना (8) पुत्री फिरोज, शहनाज (20) पुत्र रहीम, बिलाल (24) पुत्र शाहरुख, मो. कैफ (17) पुत्र आसिफ, मोह. जैद (7) पुत्र सलीम, मीना (16) पुत्री इस्माइल।

सभी की हालत खतरे से बाहर

फूड पॉइजनिंग की घटना की जानकारी मिलते ही पूरे स्टाफ को इमरजेंसी कॉल कर ड्यूटी पर बुलाया गया है। अब तक 44 मरीज अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं जिनका उपचार चल रहा है। सभी मरीजों की हालत खतरे से बाहर है।

-डाॅ. दिनेश गुप्ता, पीएमओ, सामान्य चिकित्सालय, गंगापुर सिटी

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना