पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

होली के लिए ट्रेनों में सीट की मारामारी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

त्योहारी सीजन में होली पर कहीं जाने के लिए यदि आपने अभी रिजर्वेशन नहीं कराया है तो आपकी यात्रा का मजा किरकिरा हो सकता है। क्योंकि होली पर्व के चलते अधिकांश ट्रेनों में रिजर्वेशन फुल हो चुका है। कई ट्रेनों में लंबी वेटिंग है वहीं कई में नो रूम हो गया है, यानि वेटिंग का टिकट भी उपलब्ध नहीं है।

त्यौहार के चलते लोगों ने पहले से ही रिजर्वेशन करवा लिए हैं। ऐसे में कई ट्रेनें ऐसी हैं जिनमें होली पर लंबी वेटिंग नजर आ रही है। इसके साथ ही रेलवे स्टेशन के रिजर्वेशन काउंटर पर रिजर्वेशन के लिए यात्रियों की भीड़ भी उमड़ रही है। गाड़ी संख्या 13238 कोटा-पटना एक्सप्रेस की स्लीपर श्रेणी में 8 मार्च को प्रतीक्षा सूची 122 तक पहुंच गई है। वहीं कोटा से पटना एक्सप्रेस में 8 मार्च को इस ट्रेन में प्रतीक्षा सूची 55 तक पहुंच गई है। जबकि अमृतसर पश्चिम एक्सप्रेस में नो रूम के हालात है। इसी प्रकार ओखा-गुवाहाटी एक्सप्रेस में स्लीपर श्रेणी में प्रतीक्षा सूची 144 पहुंच गई है। जबकि कोटा-निजामुद्दीन एक्सप्रेस में प्रतीक्षा सूची का टिकट मिल रहा है।

जनता एक्सप्रेस अप में 85 वेटिंग चल रही है। स्वर्ण मंदिर एक्सप्रेस में 150 वेटिंग पहुंच गई है और अब तत्काल टिकट का ही सहारा बचा है। देहरादून एक्सप्रेस डाउन में नो रूम, जबकि देहरादून अप में 109 वेटिंग है।

इसी प्रकार मेवाड़ एक्सप्रेस अप में 173 व डाउन 59 वेटिंग, अवध एक्सप्रेस अप में 118 व अवध एक्सप्रेस डाउन में 30 वेटिंग चल रही है। कुल मिलाकर अब यात्रियों को तत्काल का ही सहारा है। हालत यह है कि आरक्षण विंडो पर सुबह से भीड़ जमा हो जाती है। लेकिन कई यात्री टिकट नहीं मिलने पर वह निराश लौट रहे हैं।

तत्काल के लिए परेशानी

रेलवे स्टेशन के कम्प्यूटर आरक्षण केंद्र पर तत्काल टिकट के लिए लोग उमड़ रहे हैं। कई बार चक्कर लगाने के बावजूद उनका रिजर्वेशन नहीं हो पा रहा है। कई बार तो पहले नंबर पाने के लिए यात्रियों में विवाद की स्थिति भी बन जाती है। आरक्षण प्रभारी देवीसिंह मीणा ने बताया कि अधिकांश एक्सप्रेस ट्रेनों में वेटिंग दिन प्रतिदिन अधिक हो रही है। शनिवार तक जनशताब्दी एक्सप्रेस में 55 वेटिंग चल रही है।

खबरें और भी हैं...