पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Gangapur News Rajasthan News Increased Monitoring In Trains Instructions To Rpf And Grp

ट्रेनों में बढ़ाई निगरानी, आरपीएफ और जीआरपी को दिए निर्देश

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी

निजामुद्दीन-त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस में लूट की घटना के बाद दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर चुनिंदा ट्रेनों में गश्त बढ़ा दी गई है। घटना के बाद रेलवे प्रशासन ज्यादा सतर्कता दिखाता है और रेलवे सुरक्षा बल व जीआरपी को ट्रेनों में सुरक्षा के लिए सतर्कता रखने के लिए दिशा-निर्देश दिए हैं। रेलवे सूत्रों के अनुसार मंडल से गुजरने वाली मेवाड़ एक्सप्रेस, इंदौर-नई दिल्ली इंटर सिटी, जनशताब्दी एक्सप्रेस, स्वर्ण मंदिर मेल, दयोदय एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस आदि में रेलवे सुरक्षाकर्मी एस्कॉर्ट करते हंै। इसके अलावा कई ट्रेनों में सुरक्षाकर्मी तैनात नहीं किए जा रहे हंै।

दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग में कई यात्रियों के साथ लूटपाट व चोरी की वारदातें हो चुकी हैं लेकिन इसके बावजूद ट्रेनों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं होने से यात्रियों को आए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गत शनिवार को पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर निवासी मीना अपनी बेटी और बेटे के साथ त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस से कोटा की आेर जा रही थी। बदमाश उसका पर्स छीनकर भाग रहे थे। पकड़ने के चक्कर में ट्रेन से गिरने से मां-बेटी की मौत हो गई थी। इस बारे में आरपीएफ उप थाना प्रभारी राजपाल सिंह ने बताया कि त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस की घटना को देखते हुए अपने रेल खंड में इस तरह की ऐसी कोई वारदातें नहीं हों इसके लिए सुरक्षा व सतर्कता बरतने के दिशा-निर्देश मिले हैं।

ये क्षेत्र संवेदनशील

कोटा रेल मंडल में कई क्षेत्र संवेदनशील माने जाते हैं जहां ट्रेनों में वारदात होने का अंदेशा रहता है। इनमें पीलोदा, खण्डीप, इंद्रगढ़, लाखेरी, हिंडौन, भरतपुर आदि क्षेत्रों के आसपास ट्रेनों में वारदातें अधिक होती हैं, जिसमें चेन पुलिंग, लूटपाट, चेन स्नेचिंग, चोरी आदि शामिल हैं।

मंडल से गुजरने वाली इन ट्रेनों में सुरक्षा बल की कमी

मंडल से गुजरने वाली ओखा-वाराणसी, पारसनाथ एक्सप्रेस, अजीमाबाद, जियारत एक्सप्रेस, कामाख्या-गांधीधाम, द्वारिका एक्सप्रेस, कोटा-जम्मू, कोटा-ऊधमपुर आदि साप्ताहिक ट्रेनों में सुरक्षा बल की कमी चल रही है। ये ट्रेनें वे हैं जिनका गंगापुर में ठहराव होता है। इनके अलावा कई थ्रू ट्रेनों में भी सुरक्षा बलों की कमी से यात्रियों की सुरक्षा को खतरा रहता है।

खबरें और भी हैं...