भागवत कथा में कंस वध का मंचन, श्रोता हुए भावविभोर

Gangapur News - नगर संवाददाता | गंगापुर सिटी उदेई मोड़ स्थित मनोरथ सिद्ध हनुमानजी मंदिर पर आयोजित की जा रही भागवत कथा में बुधवार...

Jan 16, 2020, 08:11 AM IST
Gangapur News - rajasthan news kansa slaughter staged in bhagwat katha
नगर संवाददाता | गंगापुर सिटी

उदेई मोड़ स्थित मनोरथ सिद्ध हनुमानजी मंदिर पर आयोजित की जा रही भागवत कथा में बुधवार को कथा सुनने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। उदेई मोड़ मनोरथ सिद्ध हनुमानजी मंदिर महंत जागेश्वर की ओर से आयोजित कथा के छठे दिन बुधवार को कथा वाचक पं. भवानीशंकर महमदपुर ने श्रद्धालुओं को कंस वध, रुकमणी-कृष्ण विवाह, संतति वर्णन, सुदामा चरित्र की कथाओं के प्रसंग सुनाए। कथा में सुदामा का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा की मित्रता थी लेकिन दरिद्रता के चलते सुदामा को कई कष्ट भोगने पड़े। जब सुदामा भगवन से सहायता लेने गए और उनके द्वारपालों ने जब कृष्ण को सुदामा के बारे में बताया तो भगवान नंगे पांव दौड़े चले आए और सुदामा को ले जाकर आसन पर बिठाकर पांव पखारे।

भागवताचार्य ने कहा कि भगवान केवल भाव के भूखे है, मित्रता के लिए उन्होंने केवल दो मुठ्ठी चावल में दो लोक न्यौछावर कर दिए।कथा के बीच बीच भजनों की प्रस्तुति ने उपस्थित श्रद्धालुओं का मन मोह लिया। साथ ही श्रद्धालु भजनों पर भावविभोर होकर नाचने लगे। कथा के अंत में पूजा अर्चना और आरती की गई और इसके बाद सभी को प्रसादी वितरित की गई। अन्य दिनों की अपेक्षा इन दिनों आयोजित की जा रही भागवत कथा सुनने के लिए काफी संख्या में श्रद्धालु मंदिर में आ रहे है और भगवान के दर्शन के बाद कथा सुनने का आनंद ले रहे है। बुधवार को कथा में काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

फजीतपुरा में बताई भागवत की महिमा

गंगापुर सिटी/तलावड़ा | फजीतपुरा गांव में श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ एवं राधा कृष्ण प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन कलश यात्रा के बाद प्रारंभ किया गया जिसमें पं. कैलाश शास्त्री ने कहा कि भागवत धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने वाली कथा है। कलश यात्रा से पूर्व प्रधान कलश की बोली लगाई गई, जिसमें कैलाश चंद सूबेदार ने 51 हजार रुपए की बोली लगाकर प्रधान कलश की पूजा की। आचार्य कैलाशचंद शास्त्री ने पहले दिन भागवत महात्म्य कथा प्रवचन में कहा कि भागवत कथा सुनने से भक्ति, मुक्ति, ज्ञान और वैराग्य की प्राप्ति होती है। यह पुराण प्रेम, सहिष्णुता, श्रद्धा, भक्ति और समर्पण की प्रेरणा देता है। इसे अपने जीवन में आत्मसात कर लेना ही ईश्वर का साक्षात्कार व मोक्ष है। श्रीमद् भागवत कथा श्रवण से ईश्वर प्राप्ति के मार्ग खुलते हैं।

कथा के दौरान रामखिलाड़ी, सौदान, फतेह सिंह, सीताराम, कंचन, रामचरण, गिर्राज, छगन एवं जगन ड्राइवर, सूरज्ञान ने मूर्ति की पूजा-अर्चना की। पं. दयानंद शास्त्री ने वैदिक मंत्रों के द्वारा देव आह्वान एवं मूर्ति पूजा कराई गई। इससे पूर्व ग्रामीणों ने कलश यात्रा का आयोजन किया। कलश यात्रा में महिलाएं मंगल गान गाती हुई चल रही थीं। कलश यात्रा के पीछे पीछे आचार्य घोड़ी पर सवार होकर चल रहे थे। यह यात्रा गांव के गली मोहल्ले से हाेते हुए कथा स्थल पहुंची।

महूकलां में बैंडबाजों से निकाली कलश यात्रा

गंगापुर सिटी | महूकलां स्थित मनकामेश्वर महादेव मंदिर में बुधवार से सप्त दिवसीय श्रीमद भागवत कथा का बुधवार को बैंडबाजों के साथ निकाली गई कलश यात्रा के साथ आगाज हो गया। इस दौरान कथा में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने कथा का आनंद लिया। कथा वाचक दीपक कृष्ण शास्त्री ने कहा कि भागवत कथा कृष्ण प्राप्ति का मुख्य साधन है। भागवत सुनने पर व्यक्ति के सारे पाप नष्ट हो जाते है। इससे पहले गांव में बैंडबाजों के साथ कलश यात्रा निकाली गई। इस दौरान महिलाएं अपने सिर पर कलश लेकर और मंगल गीत गाती हुई जबकि कुछ महिलाएं व पुरूष भजनों पर नाचते गाते हुए चल रहे थे। लोगों ने कलश यात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया। इस दौरान कलश यात्रा में आरसी गुर्जर, सतेन्द्रसिंह चौधरी, धर्मेंद्र सिंह चौधरी, रामसिंह, जगनवाई मीना, कैलाश चतुर्वेदी, भूपेन्द्र शर्मा सहित सैनी समाज के पंच पटेलों ने भाग लिया।

तलावड़ा | भागवत कथा का बुधवार को निकाली गई कलश यात्रा के साथ शुभारंभ हुआ।

तलावड़ा | भागवत कथा का बुधवार को निकाली गई कलश यात्रा के साथ शुभारंभ हुआ।

Gangapur News - rajasthan news kansa slaughter staged in bhagwat katha
Gangapur News - rajasthan news kansa slaughter staged in bhagwat katha
X
Gangapur News - rajasthan news kansa slaughter staged in bhagwat katha
Gangapur News - rajasthan news kansa slaughter staged in bhagwat katha
Gangapur News - rajasthan news kansa slaughter staged in bhagwat katha
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना