पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Gangapur News Rajasthan News Market Closed In Bamnwas Three Hours Of Sit In

बामनवास में बाजार बंद, तीन घंटे धरना

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बामनवास। बंद पड़ा कस्बे का बाजार।

तीन घंटे चला धरना प्रदर्शन

कस्बे के पाताली हनुमान मंदिर प्रांगण में प्रदर्शनकारियों ने टैंट लगाकर पूरी तैयारी की थी। सुबह से ही माइक से आसपास के गांवों में भी अनाउंसमेंट कर दिया था जिससे धीरे धीरे ग्रामीण धरना स्थल पर जमा होने लगे तथा सुबह 11 बजे तक प्रांगण में लोगों की अच्छी खासी भीड़ जमा हो गई। इस बीच धरना स्थल पर ग्रामीणों ने बारी बारी से लोगों को संबोधित किया। धरने का नेतृत्व कर रहे पूर्व सरपंच ज्ञान सिंह, बाबूलाल गुर्जर, अनंत बड़ीला, प्रेम देवी, ओमप्रकाश जाहिरा, केदारलाल मीना सहित कई अन्य नेताओं ने लोगों को संबोधित किया। सभी वक्ताओं ने बाइक चोर की हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों को तुरंत रिहाई की मांग की तथा उनके खिलाफ दर्ज कराए गए मुकदमे को वापिस लेने की मांग की। ग्रामीणों ने पुलिस एवं प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

बामनवास में सभा, भारी भीड़

हाइवे जाम करने जाते लोगों को वार्ता के लिए बुलाया

धरना स्थल से कूच करने के बाद थाने के समीप पहुंची भीड़ में से कुछ युवकों ने थाने का घेराव करने की बात कही लेकिन समझदार लोगों ने पुलिस से टकराव का रास्ता नहीं अपनाने का आग्रह किया। लोग आगे बढ़े इसके बाद एएसपी मनीष त्रिपाठी तथा एसडीएम हेमराज परिड़वाल ने प्रमुख लोगों को रेस्ट हाउस में बुलाया तथा उनसे बात की।

आरोपितों के खिलाफ धारा 302 हटाने की मांग

वार्ता के दौरान ग्रामीणों ने चार सूत्रीय ज्ञापन एएसपी को सौंपा जिसमें जांच अधिकारी बदलने, खुशीराम की हत्या के आरोपियों के खिलाफ दर्ज एफआईआर को वापस लेने, रिपोर्ट में से धारा 302 हटाने तथा दोषी पुलिस कर्मियों को हटाने की मांग की गई। एएसपी ने कहा कि जो स्टाफ की समस्याएं हैं तथा जो कर्मचारी सही काम नहीं कर रहे है उन्हें शीघ्र बदला जाएगा। उन्होंने जांच अधिकारी को भी बदलने तथा मामले का फिर से अनुसंधान कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीण वापस लौट गए। इस मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था।

ग्रामीणों ने पुलिस को चेतावनी दी कि 10 अगस्त तक मामले को लेकर कार्रवाई नहीं की गई तो वे पुन: 11 अगस्त को बडा़ आंदोलन करेंगे।

आंदोलने में महिलाएं भी शामिल

धरना स्थल पर मौजूद कुछ उत्साही युवकों ने कहा कि धरना देने से कुछ नहीं होगा, ऐसे प्रशासन कोई मांग पूरा करने वाला नहीं है। इस पर लोगों ने जयपुर-गंगापुर मेगा हाईवे को जाम करने के लिए कूच कर दिया तथा महिलाओं सहित हजारों लोग नारेबाजी करते हुए बामनवास मोड़ की ओर रवाना हो गए।

गेस्ट हाउस के बाहर खड़ी महिलाओं में से गिरफ्तार किए गए कमलेश की मां एकाएक बेहोश हो गई। वह भीड़ में खड़ी खड़ी बार बार पुलिस अधिकारियों से गुहार लगा रही थी कि चारों युवक निर्दोष हंै।

खबरें और भी हैं...