• Home
  • Rajasthan News
  • Gangapur News
  • Gangapur - जप दिवस आज मनाएंगे, नौलखा ने अठाई तप किया, श्रावकों ने उपवास व तेला तपस्या की
--Advertisement--

जप दिवस आज मनाएंगे, नौलखा ने अठाई तप किया, श्रावकों ने उपवास व तेला तपस्या की

पर्युषण पर्व का छठा दिन बुधवार को जप दिवस के रूप में मनाया जाएगा। शाम को पॉवर ऑफ पॉजिटिविटी पर कार्यशाला होगी।...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 04:05 AM IST
पर्युषण पर्व का छठा दिन बुधवार को जप दिवस के रूप में मनाया जाएगा। शाम को पॉवर ऑफ पॉजिटिविटी पर कार्यशाला होगी। पांचवें दिन 70 वर्षीय प्रवीण नौलखा ने 8 दिन निराहार तपस्या की। आमली निवासी 80 वर्षीय जतन चपलोत ने 5 की तपस्या की। श्रावक-श्राविकाओं ने उपवास व तेले की तपस्या की।

मुनि सुरेश कुमार हरनावां ने पर्युषण पर्व के पांचवें दिन अणुव्रत चेतना दिवस पर कहा कि आचार्य तुलसी ने देश की आजादी के साथ गरीब की झोपड़ी से राष्ट्रपति भवन तक इंसान को सही मायने में इंसान बनाने के महाअभियान अणुव्रत का शंखनाद किया। अणुव्रत ने सांप्रदायिक फसादों के बीच एक एेसे धर्म को जन्म दिया जो फिरकापरस्ती की दीवारों को तोड़कर मानवता की हिफाजत के लिए संकल्पबद्घ हैं। मुनि आचार्य तुलसी चौक स्थित कालू कल्याण कुंज में अणुव्रत से क्या मिलेगा विषय पर बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि संयम ही जीवन है। जिस जीवन में संयम ना हो वो बर्बादी के कटघरों पर ले जाकर खड़ा कर देता है। पर्युषण संयम की प्रेरणा लेकर आया है। बात नशे की हो या भ्रष्टाचार की। अणुव्रत छोटे-छोटे संकल्पों से जीवन में उतर भारत को फिर विश्व गुरु होने का गर्व लौटाता है। मुनि ने कहा कि बारूद के ढेर पर खड़ी दुनिया में सद्भावना और शांति को लौटाने का वशीकरण मंत्र-अणुव्रत है।


करेड़ा में तेरापंथ युवक परिषद ने अणुव्रत दिवस मनाया, बच्चों को उपदेश दिया

करेड़ा |अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद के तत्वावधान में उपासक नेमीचंद कावड़िया के निर्देशन में मंगलवार दोपहर आदर्श विद्या मंदिर मावि के प्रांगण में अणुव्रत दिवस का आयोजन कर तेरापंथ महिला मंडल द्वारा मंगलाचरण किया गया। अणुव्रत दिवस पर मौजूद भैया-बहिनों को जीवन की सफलता के लिए निम्न छह संकल्प दिलाए गए- माता-पिता व गुरुजनों का आदर करना। मैं कभी झूठ नहीं बोलूंगा। परीक्षा में नकल नहीं करना। व्यसन मुक्त जीवन जीना। पर्यावरण के लिए जागरूक रहने तथा जीवन में पानी का अपव्यय नहीं करना। उपासक ओमप्रकाश मारू ने गुरु का महत्व बताया। प्रधानाध्यापक महेंद्र सिंह ने विद्यालय की रूपरेखा व गतिविधियों की जानकारी दी। स्वागत उदबोधन व परिचय कैलाशचंद्र चावत ने किया। तेरापंथ सभा उपाध्यक्ष गणपतलाल मेड़तवाल ने आभार ज्ञापित किया। इस अवसर पर विद्यालय परिवार सहित तेयुप मंत्री बलवंत चिपड़, हेमंत आच्छा, मनोज चिपड़, देव चावत एवं सदस्य मौजूद थे।