• Hindi News
  • Rajasthan
  • Gangapur
  • मृतका की बहन को पिस्टल से डराते थे तांत्रिक, 8 जिंदा कारतूस भी मिले
--Advertisement--

मृतका की बहन को पिस्टल से डराते थे तांत्रिक, 8 जिंदा कारतूस भी मिले

Gangapur News - कार्यालय संवाददाता | गंगापुर सिटी शहर के इंद्रा मार्केट के पास तांत्रिकों द्वारा बीमार युवती को इलाज के नाम पर...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:45 AM IST
मृतका की बहन को पिस्टल से डराते थे तांत्रिक, 8 जिंदा कारतूस भी मिले
कार्यालय संवाददाता | गंगापुर सिटी

शहर के इंद्रा मार्केट के पास तांत्रिकों द्वारा बीमार युवती को इलाज के नाम पर कमरे में डेढ़ महीने तक बंद रखने और उसकी मौत के मामले में एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ है।

तांत्रिक मृतका युवती अनीता की बहिन मोहिनी को पिस्टल दिखाकर डराते थे ताकि मोहिनी घर में चल रहे पूरे गड़बड़झाले और तंत्र क्रियाओं के बारे में बाहर किसी को नहीं बता दे। जब मोहिनी को पक्का विश्वास हो गया कि उसकी बहिन अनीता की मौत हो चुकी है और उसका शव सड़ने लग गया है तब उसने इस बारे में तांत्रिकों से पूछा, इस पर तांत्रिकों ने मोहिनी को एक बार फिर पिस्टल दिखाकर डराया और अनीता या उसकी मौत के बारे में किसी को कुछ भी जिक्र करने से मना किया।

घर में कर लिया था कैद, लगा रहता था पहरा

पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि तांत्रिकों ने अनीता के माता पिता तथा उसकी बहिन को एक तरह से अपने ही घर में कैद करके रखा हुआ था। उनके बाहर आने जाने, किसी को फोन करने, मिलने जुलने या बाहर की दुनिया से किसी भी तरह का संबंध रखने की मनाही थी। तांत्रिकों व उनके साथियों का अघोषित पहरा चौबीसों घंटे घर पर रहता था।

पर्दाफाश : इंद्रा मार्केट के पास बीमार युवती को इलाज के नाम पर कमरे में डेढ़ महीने तक बंद रखने और उसकी मौत के मामले में एक और खुलासा

गंगापुर सिटी. पुलिस गिरफ्त में तांत्रिक व मृतका के माता-पिता जिन्हें जेल भेज दिया गया।

पुलिस पहुंची तब भी लगा था ताला

28 फरवरी की रात किसी तरह मोहिनी मौका पाकर घर से बाहर निकल गई और उसने नहर रोड पर रहने वाले अपने भाई को सारा वाकया बताया। मोहिनी के घर से निकलने की खबर लगते ही तांत्रिक गजेंद्र उर्फ पप्पू तुरंत उसका पीछा करने निकला लेकिन उसने बाहर जाते समय घर का ताला बाहर से लगा दिया। गनीमत यह रही कि मोहिनी तांत्रिक गजेंद्र के हाथ नहीं लगी और अपने भाई श्यामसिंह के साथ थाने जा पहुंची। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो उस समय भी घर पर बाहर से ताला लगा था, काफी प्रयास के बाद भी जब मृतका के माता पिता और तांत्रिकों ने चाबी नहीं दी तो पुलिस ने मकान के बगल से ऊपर छत के रास्ते घर में प्रवेश किया। इसके बाद भी तांत्रिकों ने पुलिस जवानों व अधिकारियों को डराने धमकाने का प्रयास किया लेकिन पुलिस के सामने उनकी एक नहीं चली और सारे मामले का खुलासा हो गया।

बाजार भी ताला लगाकर जाते थे

पुलिस सूत्रों ने बताया कि घर के लोगों पर तो बाहर आने जाने की पाबंदी थी लेकिन तंत्र क्रिया में काम आने वाले किसी सामान को लाने के लिए तांत्रिक व उनके साथियों में से ही कोई बाहर जाता था, बाहर जाने वाला व्यक्ति घर के बाहर से ताला लगाकर जाता ताकि कोई बाहर का आदमी घर में नहीं घुस सके तथा घर का कोई व्यक्ति बाहर नहीं निकल सके।

आरोपितों को 13 मार्च तक भेजा जेल

पुलिस ने शुक्रवार को सभी आरोपियों मंजू प|ी गजेंद्र शर्मा, बंटी, नीटू चौधरी व गोपाल सिंह और मृतका के माता पिता उर्मिला देवी तथा ताराचंद राजपूत को न्यायालय में पेश किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार सभी आरोपियों को 13 मार्च तक के लिए न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया है।

लाखों के जेवरात बरामद

जांच अधिकारी महेंद्र सिंह राठी के अनुसार जब उन्होंने तांत्रिकों से कड़ाई से पूछताछ की तो नीटू चौधरी ने बताया कि वे किस तरह परिवार के लोगों को पिस्टल से धमकाते थे। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने घर की तलाशी ली। जहां तांत्रिकों ने मंदिर बनाया हुआ था वहां एक पिस्टल और 8 जिंदा कारतूस पुलिस को मिले। इस पर पुलिस ने नीटू और फरार आरोपी गजेंद्र शर्मा के खिलाफ आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। तलाशी में पुलिस को लाखों के जेवरात भी मिले हैं, पुलिस ने परिवार के लोगों से इन जेवरात के बारे में पूछा तो उन्होंने अनभिज्ञता जाहिर की।

X
मृतका की बहन को पिस्टल से डराते थे तांत्रिक, 8 जिंदा कारतूस भी मिले
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..