• Home
  • Rajasthan News
  • Gangapur News
  • Gangapur - सरकारी स्कूलों में कंप्यूटर लैब में रखे उपकरणों का होगा बीमा
--Advertisement--

सरकारी स्कूलों में कंप्यूटर लैब में रखे उपकरणों का होगा बीमा

भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी सरकारी स्कूलों में आईसीटी योजना के तहत संचालित कंप्यूटर लैब में सभी उपकरणों का...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:41 AM IST
भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी

सरकारी स्कूलों में आईसीटी योजना के तहत संचालित कंप्यूटर लैब में सभी उपकरणों का सुरक्षा बीमा करना अनिवार्य होगा। अगर किसी भी विद्यालय में बिना बीमा कोई उपकरण चोरी हुआ तो इसकी जिम्मेदारी संस्था प्रधानों की होगी। इसके लिए हाल ही में अतिरिक्त राज्य परियोजना निदेशक ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों माध्यमिक, जिला परियोजना समन्वयक व राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान को आदेश जारी किए हैं। अब माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधीन आने वाले सभी स्कूलों के संस्था प्रधानों को लैब के प्रति गंभीर होना पड़ेगा। जिले में कई स्कूलों में कंप्यूटर, पंखे आदि चोरी होने की घटनाएं हो चुकी हैं।

यह दिया आदेश

निदेशक की ओर से भेज गए आदेश में कहा गया है कि विद्यालय में चोरी आदि घटना होने पर संस्था प्रधान की ओर से एफआईआर करवाई जाएगी। इसके अतिरिक्त इसकी सूचना संबंधित सेवा प्रदाता कंपनी व जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय को तुरंत प्रभाव से देनी होगी।

उपकरणों का ऐसे होगा बीमा

विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आईसीटी के प्रथम चरण (2008-2013) व द्वितीय चरण (2010-2015) में योजना की अवधि समाप्त हो चुकी है। सेवा प्रदाता की आेर से कंप्यूटर लैब विद्यालय प्रशासन को हस्तांतरित की जा चुकी है। इसकी सुरक्षा के लिए बीमा विद्यालय स्तर पर संस्था प्रधान कराएंगे। विद्यालय छात्र विकास कोष एवं अन्य बचत राशि से कंप्यूटर लैब का सुरक्षा बीमा करवाया जाएगा। आईसीटी के द्वितीय चरण (2014-19) में सेवा प्रदाता की ओर से कंप्यूटर लैब का सुरक्षा बीमा करवाया गया है। इन उपकरणों के चोरी आदि घटना होने पर संस्था प्रधान एफआईआर दर्ज करवाकर सेवा प्रदाता व जिला शिक्षा अधिकारी को सूचना देंगे। साथ ही लैब को वापस स्थापित करेंगे। आईसीटी के तृतीय चरण (2015-2020) में कंप्यूअर लैब की सुरक्षा के लिए बीमा विद्यालय स्तर पर संस्था प्रधान की आेर से किया जाएगा। इसके लिए आईसीटी योजना के तहत जिला कार्यालय में आवंटित की गई राशि का उपयोग कर सभी उपकरणों का सुरक्षा बीमा करवाया जाएगा। आईसीटी के चौथे चरण (2016-21 व 2018-23) में सेवा प्रदाता की ओर से कंप्यूटर लैब का सुरक्षा बीमा कराया गया है।