• Home
  • Rajasthan News
  • Ghatol News
  • डायन बताकर महिला पर दूसरी बार हमला जान बचाकर भागना पड़ा
--Advertisement--

डायन बताकर महिला पर दूसरी बार हमला जान बचाकर भागना पड़ा

बांसवाड़ा| महिलाओं को हक दिलाने और अंधविश्वास मिटाने के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है, लेकिन आदिवासी बहुल...

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 03:05 AM IST
बांसवाड़ा| महिलाओं को हक दिलाने और अंधविश्वास मिटाने के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है, लेकिन आदिवासी बहुल बांसवाड़ा में आज भी महिला प्रताड़ना के मामले थम नहीं रहे। घाटोल में इसका ताजा उदाहरण सामने आया है। जिसमें डायन बताकर महिला पर दूसरी मर्तबा हमला किया गया और जान से मारने की धमकी तक दी गई है। इससे आहत महिला को गांव छोड़ना पड़ा। इसी आशय की महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने 3 जनों के खिलाफ डायन प्रताड़ना अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

यह घटना घाटोल के एक गांव की है। पीड़िता ने एसपी के नाम एक परिवाद लिख अपनी व्यथा जाहिर की और उसे न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। शिकायतकर्ता महिला ने लक्ष्मण डामोर और उसके 2 साथियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि 4 फरवरी की शाम जांबुड़ी से अपने गांव लौट रही थी। रास्ते में अपने साथियों को लेकर आए लक्ष्मण ने महिला को डाकन बताते हुए मारपीट शुरू कर दी। महिला ने बताया कि हमलावर उसे ये कहते हुए मारने लगे कि वह डायन है और उनके बच्चों और मवेशियों को उसी ने मार दिया। इसी दौरान कुछ लोग आए और बीच-बचाव किया। महिला ने यह भी आरोप लगाए कि 22 जनवरी को भी घर में घुसकर उस पर हमला किया था। उस दिन भी हमलावरों ने ग्रामीणों के सामने उसे डायन बताने की कोशिश की। इससे घबराकर महिला ने दूसरे गांव चली गई। पुलिस ने महिला की रिपोर्ट पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।