Hindi News »Rajasthan »Ghatol» बांसवाड़ा भास्कर

बांसवाड़ा भास्कर

दुनिया मज़ाक करे या तिरस्कार, उसकी परवाह किए बिना मनुष्य को अपना कर्तव्य करते रहना चाहिए। -स्वामी विवेकांनद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 05, 2018, 03:55 AM IST

दुनिया मज़ाक करे या तिरस्कार, उसकी परवाह किए बिना मनुष्य को अपना कर्तव्य करते रहना चाहिए।

-स्वामी विवेकांनद

बांसवाड़ा, सोमवार, 05 फरवरी, 2018

कुशलगढ़ गढ़ी-परतापुर घाटोल बागीदौरा सज्जनगढ़

फाल्गुन, कृष्ण पक्ष-5, 2074

दुकानदार- मैंने आपको दुकान की एक-एक चप्पल दिखा दी, अब तो एक भी बाकी नहीं है। महिला- वो सामने वाले डिब्बे में क्या है? दुकानदार- बहन, रहम कर थोड़ा, उसमें मेरा लंच है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ghatol News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बांसवाड़ा भास्कर
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ghatol

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×