• Home
  • Rajasthan News
  • Ghatol News
  • लाल और नीली पट्टी से अस्पताल में पता चलेगा लेबोरेट्री और एक्सरे विभाग
--Advertisement--

लाल और नीली पट्टी से अस्पताल में पता चलेगा लेबोरेट्री और एक्सरे विभाग

बांसवाड़ा| शहर के सरकारी जिलास्तरीय एमजी अस्पताल में खून की जांच और एक्स-रे करवाने के लिए अब भटकना नहीं पड़ेगा।...

Danik Bhaskar | Feb 19, 2018, 03:55 AM IST
बांसवाड़ा| शहर के सरकारी जिलास्तरीय एमजी अस्पताल में खून की जांच और एक्स-रे करवाने के लिए अब भटकना नहीं पड़ेगा। मरीजों की सुविधा के लिए अस्पताल प्रशासन ने नई व्यवस्था शुरू की है। इसके लिए जांच कक्ष तक मरीज आसानी से पहुंच सकेगा।

अस्पताल प्रशासन ने इसके लिए ओपीडी काउंटर से फर्श पर लाल और नीले रंग की पट्टियां बनाई गई है। लाल रंग की पट्टी लेबोरेट्री और नीले रंग वाली पट्टी एक्सरे यूनिट में जा रही है। ओपीडी में जांच के बाद जिस किसी भी मरीज को खून की जांच या एक्सरे करवाना पड़ेगा, उन्हें लाल या ब्लू रंग की पट्टी की मदद समकक्ष तक पहुंचने में मदद मिलेगी। अमूमन अब तक मरीज नर्सिंगकर्मियों से पूछते हुए इन कक्ष तक पहुंचते थे, जिससे उन्हें अपनी जांचें कराने में देर लग जाती। पीएमओ डॉ. अनिल भाटी बताते हैं कि रेड और ब्लू रंग की पट्टियों से मरीजों को संबंधित विभागों तक पहुंचने में राहत मिलेगी।

तीसरी से पांचवीं तक के बच्चों को कल से बंटेंगी किताबें

बांसवाड़ा। सरकारी स्कूलों के तीसरी से पांचवीं तक के बच्चों के लिए कार्य पत्रक और पुस्तिकाओं का ब्लॉकवार वितरण मंगलवार से शुरू होगा। डीईओ राजेंद्रप्रसाद द्विवेदी ने बताया कि पहले दिन आनंदपुरी ब्लॉक के लिए पुस्तिकाएं दी जाएंगी। उसके बाद 21 को अरथूना, 22 को बागीदौरा और तलवाड़ा, 23 को बांसवाड़ा, 24 को छोटी सरवन और कुशलगढ़, 26 को गांगड़तलाई और सज्जनगढ़, 27 को गढ़ी और 28 फरवरी को घाटोल ब्लॉक के लिए पत्रक और पुस्तकें बांटी जा रही है।

वार्ड की निशानदेही के लिए बनाई गई लाल और नीले रंग की पट्‌टी।

बांसवाड़ा| शहर के सरकारी जिलास्तरीय एमजी अस्पताल में खून की जांच और एक्स-रे करवाने के लिए अब भटकना नहीं पड़ेगा। मरीजों की सुविधा के लिए अस्पताल प्रशासन ने नई व्यवस्था शुरू की है। इसके लिए जांच कक्ष तक मरीज आसानी से पहुंच सकेगा।

अस्पताल प्रशासन ने इसके लिए ओपीडी काउंटर से फर्श पर लाल और नीले रंग की पट्टियां बनाई गई है। लाल रंग की पट्टी लेबोरेट्री और नीले रंग वाली पट्टी एक्सरे यूनिट में जा रही है। ओपीडी में जांच के बाद जिस किसी भी मरीज को खून की जांच या एक्सरे करवाना पड़ेगा, उन्हें लाल या ब्लू रंग की पट्टी की मदद समकक्ष तक पहुंचने में मदद मिलेगी। अमूमन अब तक मरीज नर्सिंगकर्मियों से पूछते हुए इन कक्ष तक पहुंचते थे, जिससे उन्हें अपनी जांचें कराने में देर लग जाती। पीएमओ डॉ. अनिल भाटी बताते हैं कि रेड और ब्लू रंग की पट्टियों से मरीजों को संबंधित विभागों तक पहुंचने में राहत मिलेगी।