• Home
  • Rajasthan News
  • Ghatol News
  • जैन संतों ने चातुर्मास निष्ठापन के बाद घाटोल के लिए विहार किया
--Advertisement--

जैन संतों ने चातुर्मास निष्ठापन के बाद घाटोल के लिए विहार किया

दिगंबर जैन मंदिर से घाटोल के लिए विहार करते मुनि समता सागर महाराज, ऐलक निश्चय सागर महाराज। बांसवाड़ा। आचार्य...

Danik Bhaskar | Feb 19, 2018, 03:55 AM IST
दिगंबर जैन मंदिर से घाटोल के लिए विहार करते मुनि समता सागर महाराज, ऐलक निश्चय सागर महाराज।

बांसवाड़ा। आचार्य गुरुवर विद्यासागरजी महाराज के शिष्य मुनि समता सागर महाराज और ऐलक निश्चयसागर महाराज का विहार चतुर्मास निष्ठापन के बाद शहर से घाटोल के लिए हुआ।

उल्लेखनीय है कि इस बार मुनिश्री का पावन वर्षा योग खांदू कॉलोनी में हुआ था। चातुर्मास के समापन के बाद शहर के सभी जैन मंदिरों की परिक्रमा होने के बाद मुनिश्री का प्रवेश खांदू कॉलोनी में हुआ था। जहां से रविवार को घाटोल के लिए विहार हुआ। विहार व विदाई की बेला में मुनिश्री ने खांदू कॉलोनी के श्रावकों की भक्ति की सराहना की।

मुनिश्री का रात्रि विश्राम तेजपुर में रखा गया है और सुबह महाराज का विहार सेनावासा के लिए होगा, जहां दोनों संतों की आहार-चर्या होगी। यह जानकारी समाज के युवा तपन मेघावत ने दी।