घाटोल

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Ghatol News
  • सीनियर स्कूलों के प्राचार्य लीडरशिप की ट्रेनिंग में नहीं गए, 13 को नोटिस
--Advertisement--

सीनियर स्कूलों के प्राचार्य लीडरशिप की ट्रेनिंग में नहीं गए, 13 को नोटिस

बांसवाड़ा| जिले के सरकारी सीनियर सैकंडरी स्कूलों का प्रबंधन-प्रशासन संभाल रहे प्राचार्यों की विभागीय लीडरशिप...

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 04:00 AM IST
बांसवाड़ा| जिले के सरकारी सीनियर सैकंडरी स्कूलों का प्रबंधन-प्रशासन संभाल रहे प्राचार्यों की विभागीय लीडरशिप ट्रेनिंग में कोई रुचि नहीं रही। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने इसे गंभीर माना है और ट्रेनिंग में नहीं जाने वाले 13 स्कूलों के प्राचार्यों को नोटिस जारी किए हैं। साथ ही, डीईओ को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि 7 दिन में जवाब नहीं देने वाले प्राचार्यों को 17 सीसीए के तहत चार्जशीट थमाएं।

विभागीय सूत्रों के अनुसार सीमेट यानी राज्य शैक्षिक प्रबंधन और प्रशिक्षण संस्थान गोनेर जयपुर की ओर से 6 अक्टूबर से 15 अक्टूबर 017 तक 10 दिनों की खास लीडरशिप ट्रेनिंग रखी गई थी, जिसमें बांसवाड़ा से 13 स्कूलों के प्राचार्य गैरहाजिर रहे। इस पर संस्थान ने सीधे निदेशालय को रिपोर्ट दी। माध्यमिक शिक्षा निदेशक नथमल डिडेल ने इसे सरकारी आदेश की अवहेलना मानते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए। इसकी पालना में डीईओ आरपी द्विवेदी ने स्थानीय सीनियर सैकंडरी स्कूल मुंदरी-आनंदपुरी के प्राचार्य मणिलाल पारगी, चौरड़ी के प्राचार्य सूरजमल गरासिया, झड़स के प्राचार्य मोहनलाल कतीजा, बिलोदा के प्राचार्य दिनेशचंद्र, वखतपुरा के प्राचार्य मणिलाल ताबियार, खेड़ा की प्राचार्य अमिता शर्मा, भगोरा की प्राचार्य अन्नमा रेजी चाको, साकरिया के प्राचार्य वीरेंद्रकुमार अहारी, चौपासाग के प्राचार्य देवेंद्रकुमार जैन, बामनपाड़ा-घाटोल के देवेंद्रकुमार जैन, मोरड़ी निचली स्कूल की प्राचार्य नेहलता उपाध्याय, उकाला-कुशलगढ़ के प्राचार्य बहादुरसिंह डामोर और भूराकुआं सज्जनगढ़ स्कूल के प्राचार्य बीएल मेरावत को कारण बताओ नोटिस दिए हैं।

अरथूना में टिकते नहीं थे बीईईओ, एपीओ कर भेजा बीकानेर

बांसवाड़ा| राज्य शिक्षा निदेशालय ने अरथूना पंचायत समिति क्षेत्र के ब्लॉक शिक्षा अधिकारी रामकुमारसिंह को एपीओ कर दिया गया है।

प्रारंभिक शिक्षा निदेशक ने सोमवार को प्रशासनिक कारणों से सिंह को तत्काल प्रभाव से अरथूना से हटा दिया गया है। अब अग्रिम आदेश की प्रतीक्षा में रखते हुए उनका मुख्यालय माध्यमिक शिक्षा निदेशक कार्यालय किया गया है। विभागीय सूत्रों ने बताया कि बीईईओ सिंह के नेतृत्व में अरथूना ब्लॉक में विभाग की ओर से निर्देशित कामकाज सही नहीं होने की शिकायत थी। खुद बीईईओ मुख्यालय पर नहीं टिकते थे। इसके चलते यह कार्रवाई की गई। हालांकि इस बारे में देरशाम तक डीईओ प्रेमजी पाटीदार ने अनभिज्ञता जताई।

X
Click to listen..