• Home
  • Rajasthan News
  • Ghatol News
  • हत्या मानकर परिजनों ने भट्टा मालिक के घर रखा युवक का शव, तमाशा देखती रही पुलिस
--Advertisement--

हत्या मानकर परिजनों ने भट्टा मालिक के घर रखा युवक का शव, तमाशा देखती रही पुलिस

घाटोल। खमेरा क्षेत्र के लेवापाड़ा गांव में ईंट-भट्टे पर मृत मिले 40 वर्षीय कचरु डामोर पुत्र लालू डामोर के शव का...

Danik Bhaskar | Feb 03, 2018, 04:05 AM IST
घाटोल। खमेरा क्षेत्र के लेवापाड़ा गांव में ईंट-भट्टे पर मृत मिले 40 वर्षीय कचरु डामोर पुत्र लालू डामोर के शव का दूसरे दिन शुक्रवार को मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया। इसके बाद परिजन अंतिम संस्कार की बजाय बिना जांच के ही ईंट भट्टा मालिक को हत्या का आरोपी मानकर शव उसके घर ले जाकर रख दिया और हर्जाने की मांग पर अड़ गए। शाम तक परिजनों ने ईंट भट्टा मालिक के घर से शव नहीं उठाया। जिससे शव का 48 घंटे बाद भी अंतिम संस्कार नहीं हो पाया। हैरानी की बात यह है कि इसे रोकने के लिए जिम्मेदार पुलिस घंटों तक तमाशबीन बनी रही। देरशाम तक थाने में इस संबंध में कोई केस भी दर्ज नहीं किया गया।

गोलियावाड़ा पंचायात के लेवापाड़ा गांव में गुरुवार सुबह कचरू का मृत मिला था। कचरू ने कुछ दिन पहले ही ईंट-भट्टे पर जाना शुरू किया था। शाम को उसने कॉल कर काम ज्यादा होना बताकर रात को घर नहीं आना बताया था, लेकिन सुबह वह मृत मिला। परिजनों का आरोप है कि कचरू की पीठ झुलसी हुई थी और उसकी हत्या की गई है। परिजनों ईंट-भट्टा मालिक लक्ष्मण पर आरोप लगाते हुए शव नहीं उठाने की जिद पर अड़ गए थे। अंधेरा होने तक पुलिस परिजनों को समझा या हटा नहीं पाई। इस पर रात को शव एमजी अस्पताल भेजा गया।

सुबह मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को साैंप दिया। जिस पर परिजन घर ले जाने की बजाय शव ईंट-भट्टा मालिक के आंगन में लाकर रख दिया।

मौताणे की मांग को लेकर ईंट भट्टा मालिक के घर के आंगन में रखा शव।

बड़े भाई की 2 साल पहले तालाब में डूबने से हुई मौत

मृतक के बड़े भाई रूपजी की 2 साल पहले तालाब में डूबने से मौत हो गई थी। कचरू पर ही बड़े भाई के परिवार की जिम्मेदारी आन पड़ी। कचरू के बाद उसकी प|ी कमला, 16 साल का बेटा राजमल, 10 साल का बेटा संजय, 12 साल की बेटी रमीला, मां कमला के अलावा भाभी और उनके तीन बच्चों की परवरीश को लेकर परिजनों की चिंता बढ़ गई है।